विशेष कानून बनाकर अयोध्‍या में राम मंदिर बनाया जाए: शिवसेना

अयोध्या मे श्री राम मंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट में अब अंतिम पड़ाव पर

मुंबई: अयोध्या मे श्री राम मंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट में अब अंतिम पड़ाव पर है. राम मंदिर विवाद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में इस महीने सुनवाई पूरी होने के बाद नवंबर तक फैसला आने की उम्‍मीद है.

वहीं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने दशहरा रैली मे देश में समान नागरिक संहिता कानून लागू करने और विशेष कानून बनाकर अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण की शुरुआत करने की मांग को नये सिरे से बुलंद कर दिया है.

महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव के बीच उद्धव ठाकरे दशहरा त्योहार के दिन यहां के शिवाजी पार्क में शिवसेना की दशहरा रैली में शिवसैनिकों को संबोधित करते हुए हिंदुत्‍व के मुद्दे पर पार्टी की अडिग नीति का बखान कर रहे थे.

उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान की भी परवाह नहीं की जिसमें पीएम मोदी ने राम मंदिर मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी होने का हवाला देते हुये नेताओं को मंदिर-मस्जिद विवाद पर बयानबाजी से बचने की सलाह दी थी.

उद्धव ठाकरे ने कहा, ”प्रधानमंत्री ने कहा कि राम मंदिर पर बयान ना दें. कोर्ट में केस है लेकिन हमारी मांग है कि विशेष कानून बनाया जाय और अयोध्या में भगवान श्री राम का मंदिर बनाया जाय और हमने मंदिर बनाने का वचन दे दिया है तो मंदिर बनाकर रहेंगे. राम मंदिर पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. राम मंदिर बनाने का वादा पूरा होना चाहिए.”

इस तरह राम मंदिर मसले पर उद्धव ठाकरे, प्रधानमंत्री की सलाह को शिवसेना की दशहरा रैली मे नजरअंदाज कर गये और लंबा-चौड़ा भाषण कर शिवसैनिकों की तालियां बटोर गये. शिवसेना के इसी मंच से शिवसेना सांसद संजय राउत भी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में देरी और मँदिर निर्माण की शिवसेना की कोशिश और हर एक ईँट पर उद्वव ठाकरे और शिव सेना की छाप पडने का भाषण करते नजर आये.

Back to top button