बोनस वितरण देख कांग्रेस का बल्ब फ्यूज : रमन

बोनस तिहार में मुख्यमंत्री ने बिलासपुर में बांटा 74 हजार 5 सौ किसानों को बोनस

रायपुर /बिलासपुर: बोनस वितरण देख कांग्रेस का बल्ब फ्यूज हो गया है। कांग्रेस ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। बोनस तक नहीं दिया। ये बात मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बिलासपुर में बोनस तिहार का आगाज करते हुए मंगलवार को कही। मुख्यमंत्री ने बिलासपुर के साइंस कॉलेज मैदान में बोनस तिहार में 74 हजार 500 किसानों को 114 करोड़ 73 लाख रूपए का बोनस ऑन लाइन वितरित किया। प्रतीक स्वरूप कई किसानों को बोनस का प्रमाण पत्र भी सौंपा। डॉ. सिंह इस मौके पर वहां 247 करोड़ रूपए के विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास भी किया।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आगे कहा कि, मोदी सरकार ने गांव, गरीब और किसान की चिंता की। सरकार किसानों के लिए काम कर रही है। कांग्रेस की सरकार के समय किसान साहूकारों के चक्कर में थे। प्रधानमंत्री सिंचाई योजना, बीमा योजना सहित अन्य योजनाओं का क्रियान्वयन करने में छत्तीसगढ़ कर्तव्यस्थ है। कृषि विभाग किसानों के लिए योजना का क्रियान्वयन कर रहा है। मुख्यमंत्री ने किसानों को भगवान का स्वरूप कहा। उन्होंने कहा कि, किसान परिश्रम, मेहनत और पसीने की 1-1 बूंद बहा लोगों के लिए अन्न देता है।

बोनस तिहार में ये भी हुए शामिल :

मुख्यमंत्री के साथ बिलासपुर के बोनस तिहार में कृषि और जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री पुन्नूलाल मोहले, नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री अमर अग्रवाल, पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर, सहकारिता पर्यटन और संस्कृति मंत्री दयालदास बघेल, लोकसभा सांसद लखनलाल साहू, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक और गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष भूपेन्द्र सवन्नी सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी, अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और हजारों की संख्या में किसान तथा नागरिक उपस्थित थे।

बिलासपुर में लोकार्पण-भूमिपूजन :

मुख्यमंत्री के हाथों लोकार्पित निर्माण कार्यों में तखतपुर विकासखण्ड के ग्राम पोड़ीकला में शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय भवन 95.35 लाख, शासकीय इंदिरा कन्या उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय भवन ग्राम तखतपुर 95.35 लाख, शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय भवन ग्राम उसलापुर 95.35 लाख, शासकीय हाईस्कूल भवन ग्राम पाली 45.05, प्राथमिक केन्द्र भवन ग्राम दैजा लागत 49.57 लाख, उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन ग्राम काठाकोनी 22.81 लाख, 16.60 कि.मी. का चौड़ीकरण, मजबूतीकरण एवं डामरीकरण कार्य, काठाकोनी से मेड़पार मार्ग 2306.42 लाख, बिल्हा विकासखण्ड के तिफरा में दृष्टि बाधित नि:शक्तजनों हेतु बेलप्रेस में अतिरिक्त कक्ष 25 लाख, कोटा विकासखण्ड के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्राम आमागोहन 60 लाख, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्राम रतनपुर 1.37 लाख, गौरेला विकासखण्ड में 50 बिस्तर एमसीएच भवन गौरेला 9 लाख, बिल्हा विकासखण्ड में निपनिया नाला पर 12.00-12.00 मी. चौड़ाई के दो उच्चस्तरीय पुलों (फोरलेन) भी शामिल हैं।

मार्ग- पुल निर्माण कार्यों का लोकार्पण :

विकासखण्ड हिर्री-बिल्हा मार्ग 311 लाख, सोन नदी और खुज्जी नाला पर पुल निर्माण कोल बिर्रा-सिलपहरी मार्ग 696 लाख, तिपान नदी पर पुल निर्माण डोगनिया से सपनी मार्ग 209 लाख, तखतपुर विकासखण्ड के मनियारी नदी पर पुल निर्माण तखतपुर के पंचबहरा (छिरहापारा) अमलीकांपा मार्ग 252 लाख, शासकीय पातालेश्वर महाविद्यालय मस्तूरी में 8 अतिरिक्त कक्षों का निर्माण और विद्युतीकरण कार्य मस्तूरी 140 लाख, शासकीय महामाया महाविद्यालय रतनपुर में 8 अतिरिक्त कक्षों का निर्माण और विद्युतीकरण कार्य 140 लाख, शासकीय कन्या पॉलीटेक्निक बिलासपुर में 50 सीटर कन्या छात्रावास एवं अधीक्षिका सह चौकीदार आवास का निर्माण 192.72 लाख और शासकीय कन्या पॉलीटेक्निक स्थापना भवन निर्माण 899.60 लाख का भी लोकार्पण किया।

इन निर्माण कार्यों का हुआ भूमिपूजन :

डॉ. सिंह ने बिलासपुर में आडोटोरियम निर्माण 1344.74 लाख, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत हाईस्कूल भवन निर्माण विकासखण्ड तखतपुर ग्राम कुरेली 62.83 लाख, मार्ग लंबाई 12.35 कि.मी. का चौड़ीकरण मजबूतीकरण एवं डामरीकरण खम्हरिया राजपुर दैजा मार्ग 3153.83 लाख, बरद्वार सक्ष्म सिंचाई योजना ग्राम टांडा 445.10 लाख, देवरी जलाशय योजना ग्राम देवरी 241.91 लाख, सड़क निर्माण ग्राम पडरिया से अमोलीकांपा 125.28 लाख, सड़क निर्माण ग्राम हरदी से देवतरा 152.19 लाख, विकासखण्ड कोटा में 7.070 कि.मी. ग्राम बेलगहना से ग्राम उपका 517.435 लाख, अरपा नदी पर फोरलेन पुल निर्माण बिलासपुर -रतनपुर मार्ग पर (प्रताप चौक के पास) लागत 1916 लाख, शिवनाथ नदी पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण रहटाटोर से नयापारा लागत 2133 लाख रुपए की लागत का भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

Back to top button