रमन सिंह कांग्रेस पार्टी की चिंता छोड़े – कांग्रेस

मूल समस्याओं से ध्यान भटकाने में लगी है सरकार

रायपुर: हमारे पार्टी से कौन मुख्यमंत्री बनेगा या कौन नहीं रमन सिंह को इससे कोई लेना देना नहीं. एक समय था, यही रमन सिंह सराईपाली से बोले थे नगरीय निकाय चुनाव के समय, जब जोगी ने कहा मैं चुनाव प्रचार नही करूंगा तो रमन सिंह बयान दिये थे, कांग्रेस पार्टी का बड़ा नुकसान होगा. उनको कांग्रेस पार्टी की क्या चिंता है?

हमारे पार्टी में बहुत सारे योग्य लोग है इसमें कोई संदेह नही है. जब समय आएगा, उसका चयन हो जायेगा. ये सब बातें हमारे विपक्ष की देन है. वो सब मूल समस्याओं को हटाने के लिए मीडिया में इस प्रकार की बाते कर रहे है. आपने देखा होगा कि किस प्रकार से नेशनल मीडिया ये कह रही है कि देश के मूल समस्याओं को हटाने के लिये कभी कोई मुद्दा ले आते है, सरकार की ओर से, भाजपा की ओर से. यहां भी वही हो रहा है. छतीसगढ़ की मूल समस्याओं से ध्यान भटकाने के लिये इस प्रकार की बातों को हवा दी जा रही है.

लेकिन सवाल इस बात का है कि हमारे प्रदेश में मूल बाते क्या है? यहां मनरेगा का भुगतान नही हो रहा है. शौचालय का भुगतान नही हो रहा है. यहां किसानों को न बीमा की राशि मिल रही है, न मुआवजा की राशि मिल रही है, न किसानों का कर्ज माफी हो रही है, न ही तेंदूपत्ता के खरीदी में जो कमी आयी है उसके बारे में कोई चिंता हो रही है.

यहां आदिवासियों की जमीनें लूटी जा रही है, उसके बारे में कोई चिंता नहीं है. मूल समस्या ये है, आज रायगढ़ जिले में, कोरबा जिले में देख लीजिये आदिवासियों के कितने प्रकरण वहाँ एसडीम कार्यालय में है. मैं आप लोगों से कहना चाहूंगा निवेदन करता हूं कि मीडिया के लोग है वहां जाइये आदिवासियों के हित में काम करिए. रमन सिंह को कांग्रेस को कोई डायरेक्शन सुझाव देने का अधिकार नही है, लेकिन मैं निवेदन करना चाहता हूं कि छतीसगढ़ में आप लोग काम कर रहे है भोले-भाले गरीब आदिवासी की हक की बात आप कहेंगे.

new jindal advt tree advt
Back to top button