मतदान केंद्रों में रेम्प, पेयजल, शौचालय, बिजली व सड़क सुनिश्चित हो – कलेक्टर डी. सिंह

कोई भी दिव्यांगजन मतदाता सूची में नाम जुड़वाने से वंचित न रहे

– मनीष शर्मा

ग्राम सभा में हर ग्राम पंचायतों में मतदाता सूची का करायेंगे अध्ययन
कलेक्टर ने दिये मतदान का प्रतिशत बढ़ाने हर संभव प्रयास करने निर्देश
कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों और जनपद सीईओ की बैठक

मुंगेली : कलेक्टर डी. सिंह ने आज शुक्रवार को कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में समस्त एसडीएम, तहसीलदारों और जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की बैठक लेकर आगामी विधानसभा निर्वाचन के संबंध में तैयारियों की समीक्षा की। उन्होने राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों और जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से कहा कि मतदान केंद्रों में रेम्प, शौचालय, बिजली, पेयजल एवं पहुंच मार्ग सुनिश्चित करें। कोई भी दिव्यांगजन मतदाता सूची में नाम जुड़वाने से वंचित न रहे तथा मतदान केंद्रों में सभी बुनियादी सुविधायें सुनिश्चित करें। उन्होने जनपद पंचायतों के सीईओ को निर्देशित किया कि 20 अगस्त को जिले में आयोजित होने वाले ग्राम सभाओं में हर ग्राम पंचायतों में आमजनों को मतदाता सूची का अध्ययन करायेंगे। विगत लोकसभा एवं विधानसभा निर्वाचनों के जिन मतदान केंद्रों में मतदान का प्रतिशत अत्यधित न्यूनतम रहा है वहां स्वीप गतिविधियों, बीएजी, बीएलओ एवं एनजीओ के माध्यम से मतदान का प्रतिशत बढ़ाने हर संभव प्रयास किया जाये। उन्होने स्वीप के नोडल अधिकारी से कहा कि लोगों में जागरूकता बढ़ाने ईव्हीएम और वीवीपीएटी मशीन का हाट बाजारों में प्रदर्शन किया जायेगा।

कलेक्टर सिंह ने एसडीएम मुंगेली और तहसीलदार से कहा कि हर दिन निर्वाचन कार्य की समीक्षा बैठक होगी। इसी तरह सप्ताह में दो दिन राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों की बैठक आयोजित की जायेगी। उन्होने उप जिला निर्वाचन अधिकारी से कहा कि मतदान दलों का गठन और मास्टर ट्रेनर्स के द्वारा प्रशिक्षण आयोजित किया जाना सुनिश्चित करें। निर्वाचन कार्य हेतु अधिकारी-कर्मचारियों का डाटाबेस एंट्री की जांच कर ली जाये तथा सत्यापन करना सुनिश्चित करें। जिले में 30 मास्टर ट्रेनर्स है। इन मास्टर ट्रेनरों द्वारा मतदान केंद्रों में प्रशिक्षण दिया जायेगा। बैठक में बताया गया कि जिले में 659 मतदान केंद्र बनाये गये है। एमसीएमसी समिति से जुड़े अधिकारियों को प्रशिक्षण देने के लिए मास्टर ट्रेनर्स को निर्देश दिये गये। उन्होने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से कहा कि जिन मतदान केंद्रों में दिव्यांगजनों के लिए रेम्प नहीं बना है। वहां 15 अगस्त 2018 तक अनिवार्यतः बना लेवें। कलेक्टर ने दिव्यांगजनों के लिए मतदान केंद्रों में व्हील चेयर की उपलब्धता, रूटचार्ट बनाने, माइक्रोऑब्जर्वर की नियुक्ति, मतदाता परिचय पत्र शत प्रतिशत सुनिश्चित करने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। 1 जनवरी 2018 की स्थिति में 18 वर्ष आयु पूर्ण करने वाले युवाओं का नाम मतदाता सूची में जोड़ने हेतु बीएलओ स्कूलों और कालेजों में जायें। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों से विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्य की जानकारी ली।

कलेक्टर ने समस्त एसडीएम, तहसीलदारों और जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से आबादी पट्टा वितरण की जानकारी ली। उन्होने जिला शिक्षा अधिकारी और राजस्व अधिकारियों को जाति और निवास प्रमाण पत्र जारी किये जाने हेतु निर्देश दिये। उन्होने जनपद पंचायतों के सीईओ को निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री नवीन पेंशन योजना के तहत लक्ष्य के अनुरूप हितग्राहियों को लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। राजस्व अधिकारियों से जनसंवाद के आवेदनों की जानकारी ली गई। बैठक में पथरिया जनपद पंचायत के सीईओ ने बताया कि ग्राम बेलखुरी में मुक्तिधाम निर्माण का कार्य प्रारंभ हो गया है। चिप्स के नोडल अधिकारी ने बताया कि संचार क्रांति योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 27 अगस्त 2018 से मोबाईल वितरण शुरू होगा। इसके लिए तैयारियां की जा रही है।
बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर राजेश नशीने, मुंगेली एसडीएम अमित गुप्ता, पथरिया एसडीएम डॉ. आराध्या, डिप्टी कलेक्टर आरके तम्बोली, जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी रिमन सिंह, जनपद पंचायत सीईओ डॉ. अनुप्रिया मिश्रा, पथरिया सीईओ कुमार सिंह, तहसीलदार अविनाश ठाकुर, नायब तहसीलदार मुकेश देवांगन जिला मास्टर ट्रेनर्स डॉ. आईपी यादव सहित अन्य मास्टर ट्रेनर्स एवं अधिकारी उपस्थित थे।

Tags
Back to top button