क्राइमराष्ट्रीय

झारखंड में रांची की पुलिस ने ऑनलाइन सेक्स रैकेट का किया भंडाफोड़

रांची में नकली आधार कार्ड बनाने के गिरोह का भी किया पर्दाफाश

रांची : विदेशी महिलाओं के साथ सेक्स रैकेट चलाये जा रहे राजधानी रांची के चिरौंदी में पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी की. छापेमारी में आपत्तिजनक हालत में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया.

देह व्यापार में लिप्त दोनों युवतियां बांग्लादेश की रहने वाली हैं जिनकी वीज़ा की अवधि समाप्त हो चुकी है. पुलिस ने एक युवती के पास से नकली आधार कार्ड बरामद किया है. जब्त आधार कार्ड पर फर्जी एड्रेस है.

सिटी एसपी सौरभ का कहना है कि गिरफ्तार दो युवक महादेव यादव और संजय यादव चतरा के रहने वाले हैं. इस गिरोह ने एक बैंककर्मी का घर किराये पर लिया था जहां यह लोग धंधा चलाते थे.

पुलिस विदेशी लड़कियों से पूछताछ कर रही है और सेक्स रैकेट चलाने वाले गिरोह के लोगों को पता खंगाल रही है. साथ ही पुलिस आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह की सरगर्मी से तलाश कर रही है.

सिटी एसपी ने आगे बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि ऑनलाइन पोर्टल के सहारे देह व्यापार का गंदा खेल चलाया जा रहा था. इसी ऑनलाइन बुकिंग के सहारे दो युवक रांची आए थे लेकिन पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ में पाया गया कि वेबसाइट पर रांची एस्कॉर्ट के नाम से ऑनलाइन सेक्स रैकेट चल रहा था. इस ऑनलाइन सेक्स रैकेट में दर्जनों लड़कियां जुड़ी हुईं पाई गई हैं. पुलिस ऑनलाइन रैकेट चलाने वाले राहुल की भी तलाश कर रही है. साथ ही, ऑनलाइन रैकेट की साइट को बंद करने के लिए साइबर पुलिस को निर्देश दिए गए हैं.

सिटी एसपी सौरभ का कहना है कि सेक्स रैकेट के इस गिरोह का पता चलने के बाद पुलिस नकली पासपोर्ट बनाने वाले गिरोह का पता लगाने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है. जिसके बाद यह खुलासा हो सकेगा कि कितने और लोगों को नकली आधार कार्ड बनाकर इस गिरोह ने दिया है.

बहरहाल, हाल के दिनों में पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान सेक्स रैकेट के ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया था जो अपने ग्राहकों के लिए लड़कियों की होम डिलीवरी करता था. गिरोह का सरगना राजन सिंह फिलहाल जेल में दिन गुजार रहा है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button