रंगकर्मी रोहित कौशिक ने बनाया 83 घंटे तक नाटक मंचन का रिकॉर्ड

इस दौरान विभिन्न स्लॉट में लगभग छह घंटे का ब्रेक लिया।

हिसार।
प्रसिद्ध रंगकर्मी रोहित कौशिक ने 83 घंटे तक लगातार नाटक का मंचन कर नया विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है।

उन्होंने रक्तरंजित मयूर पंख में एकल अभिनय की अनवरत प्रस्तुति देकर अमेरिका के 76 घंटे का विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया।

रोहित ने कुल 89 घंटे 44 मिनट तक अपनी प्रस्तुति दी। इस दौरान विभिन्न स्लॉट में लगभग छह घंटे का ब्रेक लिया।

गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय के चौ. रणबीर सिह सभागार में भिवानी निवासी रोहित ने 25 दिसंबर को शाम साढ़े चार बजे रक्तरंजित मयूर पंख नाटक का मंचन शुरू किया।

30 दिसंबर को सुबह 10.14 बजे तक उनका मंचन अनवरत चला। मंचन के बाद रोहित गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए दावेदारी भेजेंगे।

इसके लिए मंचन की वीडियो रिकॉर्डिंग, प्रमाण-पत्र, समय के प्रमाण और साक्ष्य जुटाए गए हैं।

मेडिटेशन के कारण कर पाए मंचन

रोहित ने बताया कि गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड के नियमों के अनुसार, हर घंटे में अधिकतम 10 मिनट का ब्रेक लिया जा सकता है।

मगर, उन्होंने कभी दो तो कभी चार घंटे के अंतराल में 10-10 मिनट का ब्रेक लिया। एक बार तो उन्होंने आठ घंटे तक लगातार अभिनय किया।

इस दौरान वह जूस, ब्लैक टी और पानी पर निर्भर रहे। रोहित ने कहा कि मेडिटेशन के कारण वह इतने लंबे समय तक इस नाटक का मंचन कर पाए।

उन्होंने बताया कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए रेस्ट या ब्रेक के समय की गणना नहीं की जाती।

रोहित की दावेदारी : रोहित कौशिक ने 83 घंटे तक रक्तरंजित मयूरपंख नाटक की अनवरत प्रस्तुति दी है।

advt
Back to top button