Uncategorizedज्योतिष

Rashi Parivartan 2020: दिवाली के दो दिन बाद सूर्य करेंगे राशि परिवर्तन, इन राशियों के लिए लाभ का योग

आइए जानें सूर्य के इस राशि परिवर्तन से किन राशियों परक्या प्रभाव होगा:

सूर्य दिवाली पर तुला राशि में रहेंगे औऱ इसके दो दिन बाद यह 16 नवंबर को वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य का वृश्चिक राशि में परिवर्तन शुभ और अशुभ दोनों प्रकार का परिणाम देता है। कुछ राशियों के लिए यह सकारात्मक परिवर्तन है तो कुछ राशियों के लिए यह परिवर्तन नकारात्मक भी होगा। सूर्य आमतौर पर हर राशि में एक महीने के लिए रहते हैं। इसे सूर्य संक्रांति कहा जाता है। 11 महीने बाद नवरात्रि के शुरू में सूर्य ने अपनी नीच की राशि तुला में प्रवेश किया था।

अब 16 नवंबर की सुबह सूर्य वृश्चिक राशि में प्रवेश कर रहे हैं। अगर सूर्य किसी राशि में अच्छे प्रभाव दे रहा हो तो इन प्रभावों में नौकरी में तरक्की, आत्मविश्वास का बढ़ना, इसके अलावा शासक पक्ष में सफलता मिलती है। आइए जानें सूर्य के इस राशि परिवर्तन से किन राशियों परक्या प्रभाव होगा:

मिथुन राशि के लोगों के लिए शुभ परिणाम लेकर आ रहा है। खासकर नौकरी करने वाले वर्ग के लिए अच्छे संकेत हैं। अधिकारी वर्ग का आपको सहयोग मिलेगा। स्टूडेंट्स के लिए यह परिवर्तन अच्छा है। स्वास्थ्य के लिहाज से भी यह परिवर्तन बहुत ही अच्छा है।

सिंह राशि वालों के लिए यह परिवर्तन बहुत ही अच्छे परिणाम लेकर आ रहा है। आपको नौकरी में आपकी मेहनत का लाभ मिल सकता है, वहीं आप भवन और वाहन की खरीददारी कर सकते हैं।

धनु राशि के लोगों के लिए इस परिवर्तन से आपके लिए मिलाजुला है। नौकरी में कुछ समस्याएं आ सकती हैं, लेकिन आप इन सभी से आसानी से निकल पाएंगे।
मकर राशि के लोगों के लिए यह परिवर्तन अच्छा है। इस राशि के लोगों को नौकरी और बिजनेस में काफी अच्छे संकेत मिल रहे हैं। व्यापार में लाभ और नौकरी में तरक्की आपको मिल सकती है।

कुंभ राशि वालों के लिए यह लाभदायक साबित होगा। इस राशि के लोगों को नौकरी में खासा लाभ होगा। इसके साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में भी आप लाभ अर्जित करेंगे। मीन राशि वालों के लिए इस परिवर्तन से आपको सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। इस राशि के लोगों को आर्थिक रूप से लाभ मिलेगा, फिर चाहे वह व्यापार हो या फिर नौकरी। आपकी मेहनत का अच्छा इनाम भी आफको मिल सकता है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button