राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने मनाया धूमधाम से विजयादशमी का पर्व

हिमांशु सिंह ठाकुर:

कवर्धा: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने विजयादशमी का उत्सव बड़े ही उत्साह के साथ मनाया। इस अवसर पर पंडरिया खण्ड के 11 शाखा से 96 स्वयंसेवक उपस्थित थे।पथ संचलन का कार्यक्रम रघुराज कन्या शाला प्रांगण से प्रारम्भ होकर नगर के बड़े पुल, ढेलवाबन्दपारा, समरूपारा, से किल्लापारा,पुराना बस स्टेण्ड होते हुए सामुदायिक भवन प्रांगण में सम्पन्न हुआ।

कार्यक्रम की शुरुआत स्वयंसेवक संघ ने गीत, सुभाषित, अमृत वचन के साथ मुख्यवक्ता अशोक चन्द्रवंशी ने अपना उद्बोधन श्री गीता के श्लोक “यदा-यदा ही धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत। अभ्युत्थानं धर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम” के भावार्थ पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जब जब इस पृथ्वी पर अधर्म का आतंक बढ़ जाता है, तब तब मैं मनुष्य रूप में जन्म लेता हूँ।

यह वह भारत है जिसका वर्णन गीता के श्लोक में वर्णित है। आज यूरोपीय संघ विश्व में भारत के बढ़ते नेतृत्व शक्ति से चुभन हो रही है क्योंकि भारत किसी समय यूरोप का औपनिवेशिक देश रहा है वह 27 राज्यों वाला देश आज 28 राज्यों का देश यूरोप को पीछे कर दिया है।संघ से जुड़ने का आह्वान करते हुए कहा कि हिन्दू समाज के एकजुट होने से राष्ट्र सशक्त बनेगा।

Back to top button