बड़ी खबरबिज़नेस

RBI ने अपडेट किया KYC का फॉर्मेट

रायपुर: भारतीय रिज़र्व बैंक ने अपने ग्राहक को पहचानिए यानी ‘KYC’ से संबंधित नियमों में संशोधन कर विनियमित बैंकों और अन्‍य ऋणदाता संस्‍थाओं को वीडियो आधारित ग्राहक पहचान प्रक्रिया (वी-सीआईपी-‘V-CIP’) के इस्‍तेमाल को मंजूरी दे दी है। इस कदम से दूरदराज के ग्राहकों को मदद मिलेगी।

यह प्रक्रिया स्‍वीकृति पर आधारित होगी और इससे बैंकों तथा अन्‍य विनियमित संस्‍थाओं के लिए रिजर्व बैंक के अपने ग्राहक को पहचानिए से संबंधित नियमों का पालन करना आसान होगा।

रिज़र्व बैंक ने कहा कि विनियमित संस्‍थाओं को यह सुनिश्चित करना होगा कि वीडियो रिकॉर्डिंग सुरक्षित तरीके से की जाए और उस पर तारीख तथा समय की मुहर लगी हो।

पिछले साल सरकार ने धनशोधन निषेध (अभिलेख अनुरक्षण) नियम 2005 में संशोधनों को अनुसूचित किया था। परिपत्र के अनुसार इस प्रक्रिया के दौरान ग्राहक द्वारा पैन कार्ड का स्‍पष्‍ट चित्र भी दिखाई देना जरूरी है।

इसमें यह भी सुनिश्चित करने पर बल दिया गया है कि आधार और पैन कार्ड में दिए गए चित्र और पहचान संबंधी विवरण का मिलान ग्राहक द्वारा उपलब्‍ध कराये गये विवरण से होना चाहिए।

परिपत्र में यह भी कहा गया है कि ग्राहक के स्‍थान से संबंधित जानकारी जिओ टैंगिंग के जरिए की जानी चाहिए, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि ग्राहक भारत में ही मौजूद है।

Tags
Back to top button