दिवालिया हो रही है RCom, बैंकरप्सी की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया

आरकॉम को कर्ज से बचाने के लिए मुकेश और अनिल अंबानी की कम्पनियों के बीच डील हो रही थी

नई दिल्लीः नेशनल कम्पनी लॉ ट्रिब्यूनल यानी एनसीएलटी ने अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशन (आरकॉम) के खिलाफ बैंकरप्सी की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया है। यानी कि आरकॉम दिवालिया हो रही है। एनसीएलटी के इस फैसले से अनिल अंबानी की उस मुहिम को धक्का लगा है जिसके तहत वह आरकॉम के वॉयरलैस एसैट्स को अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली जियो इन्फोकॉम को 18,000 करोड़ में बेचना चाहते थे।

आरकॉम को कर्ज से बचाने के लिए मुकेश और अनिल अंबानी की कम्पनियों के बीच यह डील हो रही थी। हालांकि अब लग रहा है कि मुकेश अंबानी चाह कर भी छोटे भाई की मदद नहीं कर पाएंगे। खुद को कन्सॉलिडेट करने के लिए कम्पनी ने एयरसैल के साथ मर्जर की कोशिश भी की। हालांकि यह कोशिश भी बेकार साबित हुई।

इसके बाद कम्पनी ने अपना कस्टमर बिजनैस बंद कर बी टू बी श्रेणी में बने रहने का फैसला किया। आरकॉम ने पिछले साल दिसम्बर में अपना स्पैक्ट्रम, टावर, ऑप्टिकल फाइबर और स्विचिंग नोड्स बेचने की डील साइन की थी। यह कदम कर्ज को कम करने के लिए उठाया गया था। मगर एन.सी.एल.टी. के आदेश ने इस डील पर प्रश्रचिन्ह लगा दिए हैं।

Back to top button