करुणानिधि के निधन पर PM मोदी समेत कई नेताओं ने जताया दुख

नई दिल्ली : तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और DMK प्रमुख एम. करुणानिधि का 94 साल की उम्र में निधन हो गया है. उन्होंने मंगलवार शाम 6:10 बजे चेन्नई के कावेरी अस्पताल में आखिरी सांस ली. करुणानिधि के देहांत की खबर आते ही तमिलनाडु समेत पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई. डीएमके प्रमुख के समर्थकों और परिवार में मातम पसर गया. डीएमके समर्थकों को रोते और बिलखते देखा गया.

करुणानिधि के शव को कावेरी अस्पताल से गोपालपुरम आवास ले जाया जाएगा और बुधवार सुबह राजाजी हॉल में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. वहीं, करुणानिधि के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीसामी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत तमाम नेताओं ने दुख जताया है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, ‘एम करुणानिधि के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. ‘कलैनार’ के नाम से लोकप्रिय वह एक सुदृढ़ विरासत छोड़कर जा रहे हैं, जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है. उनके परिवार के प्रति और लाखों चाहने वालों के प्रति मैं अपनी शोक संवेदना व्यक्त करता हूं.’

श्री एम करुणानिधि के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। “कलैनार” के नाम से लोकप्रिय वह एक सुदृढ़ विरासत छोड़ कर जा रहे हैं जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है। उनके परिवार के प्रति और लाखों चाहने वालों के प्रति मैं अपनी शोक संवेदना व्यक्त करता हूँ – राष्ट्रपति कोविन्द

करुणानिधि के देहांत पर दुख जताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उनको देश हमेशा याद रखेगा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘करुणानिधि के निधन से बेहद दुखी हूं. वो भारत के सबसे सीनियर नेताओं में से एक थे. हमने जमीन से जुड़े जननायक को खो दिया. महान विचार और लेखक को खो दिया. उनका जीवन गरीब और वंचित लोगों के लिए समर्पित था.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदना करुणानिधि के अनगिनत समर्थकों और परिजनों के साथ है. भारत और खासकर तमिलनाडु उनको हमेशा याद रखेगा. उनकी आत्मा को शांति मिले.’ मोदी ने कहा, ‘मुझे करुणानिधि से कई अवसरों पर मिलने का अवसर मिला. उनको पॉलिसी की अच्छी समझ थी और वो समाज कल्याण के कार्यों पर जोर देते थे. वो लोकतंत्रिक मूल्यों के लिए प्रतिबद्ध थे. आपातकाल के खिलाफ उनका कड़ा विरोध हमेशा याद किया जाएगा.’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने करुणानिधि के निधन पर दुख जताते हुए उनको भारत का महान बेटा करार दिया है. तमिलों के प्रिय कलैगनार छह दशक से ज्यादा समय तक तमिलनाडु की राजनीति में रहे. उनके निधन से भारत ने अपने महान बेटे को खो दिया. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने ट्वीट किया, ‘करुणानिधि के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ है. उनका जाना देश और तमिलनाडु के लिए ऐसी क्षति है, जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती है. उनके निधन से एक युग का अंत हो गया. मैं उनके शोकग्रस्त परिवार और समर्थकों के प्रति दिल से अपनी संवेदना व्यक्त करती हूं.’

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि करुणानिधि का तमिलनाडु राज्य के विकास में अहम योगदान रहा, डीएमके के क्षेत्रीय पार्टी होने के बावजूद उन्होंने राष्ट्रीय राजनीतिक में अहम भूमिका निभाई.

आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर करुणानिधि के देहांत पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘महान नेता करुणानिधि के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं. उनकी आत्मा का शांति मिले. उनका निधन देश के लिए बड़ी क्षति है.’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘आज भारत ने अपने सबसे महान बेटों में से एक को खो दिया. साथ ही तमिलनाडु ने एक तरह से अपने पिता को खो दिया. अलविदा करुणानिधि. तमिलनाडु की जनता, एमके स्टालिन, कनिमोझी और परिवार के साथ मेरी गहरी संवेदना हैं. भारत आपको खोने के शोक में डूब गया है.’

तमिल अभिनेता रजनीकांत ने करुणानिधि के देहांत पर ट्वीट किया, ‘यह एक काला दिन है. मैं अपने आर्टिस्ट के दिन को अपने जीवन में कभी नहीं भूल सकता हूं. उनकी आत्मा को शांति मिले.’

आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने करुणानिधि के निधन पर शोक जताया है. वो बुधवार को चेन्नई भी जाएंगे.

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने करुणानिधि के निधन पर दुख जताया है.


Tags
Back to top button