योग से दूर होंगे बच्चों में तनाव,जानने के लिए पढ़िए पूरी खबर

तीसरे ग्रेड के बच्चों में तनाव अधिक

नई दिल्ली. आजकल के समय में लाइफस्टाइल के साथ-साथ बच्चों में भी तनाव की कई समस्याएं बढ़ती जा रही है। क्योंकि बच्चों के कोमल मन पर पढ़ाई के साथ ओर भी कई तनाव से जुझते रहते है। बच्चों को तनाव से दूर रखने के लिए साइकोलॉजी रिसर्ज एंड बिहेवियर मैनेजमेंट मैग्जीन के पब्लिश रिसर्च में पाया गया कि स्कूलों में योग और ध्यान से जुड़ी एक्टिविटीज छोटे बच्चों का तनाव और चिंता दूर करने में मदद कर सकती हैं और इससे उनके शारीरिक- मानसिक स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है।

तीसरे ग्रेड के छात्रों पर पड़ती है सबसे ज्यादा असर

अमेरिका में टूलेन यूनीवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च में पाया कि स्कूल के शुरुआती साल में तीसरे ग्रेड के जिन छात्रों में चिंता के लक्षण पाये गए थे,उन्हें दो ग्रुप्स में बांट दिया गया। इनमें से 32 छात्रों के ग्रुप को बेहतर देखभाल मिली और उन्हें परामर्श दिये गए और स्कूल की अन्य एक्टिविटीज में शामिल किया गया। वहीं 20 छात्रों के ग्रुप को ‘योग एड’ कार्यक्रम के तहत करीब आठ हफ्ते तक योग / ध्यान की एक्टिविटीज में शामिल किया गया।

स्कूल का काम अधिक थकाऊ और बोझिल होना

शोधकर्ताओं ने शोध में ये भी पाया कि स्कूल का काम अधिक थकाऊ और बोझिल होने के चलते तीसरे ग्रेड के बच्चों में तनाव अधिक है। जिससे वो पढ़ाई के साथ अन्य एक्टविटीज में काफी पिछड़ते जा रहे हैं।

Back to top button