छोटे रकबे की जमीन की रजिस्ट्री हुई शुरू मध्यम वर्गीय परिवार में खुशी की लहर

पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय पहुचे रजिस्ट्री ऑफिस मध्यम वर्गीय परिवार ने मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ओर कांग्रेस परीवार को दी बधाई

रायपुर।

कांग्रेस के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने सरकार बनते ही अपने घोषणा के अनुसार मध्यम परिवार के हित मे लगातार निर्णय ले रहे है। बीजेपी सरकार के समय सभी वर्गों को तकलीफ उठानी पड़ी बीजेपी ने छोटे रकबे की जमीनों पर रोक लगा रखी थी।

इससे मध्यम वर्गीय ओर छोटे प्लॉट वाले अपनी जमीन जरूरत के समय न तो जमीन बेच सकते थे न खरीद सकते थे। मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने सरकार बनते ही एक हफ्ते के अंदर छोटे रकबे की जमीन पर रोक लगा रखी थी।

उसे तत्काल हटाकर पुनः छोटे रकबे, नामांकन, बटांकन की रजिस्ट्री को शुरू किया। पश्चिम के नवनिर्वाचित विधायक विकास उपाध्याय ने अचानक रजिस्ट्री ऑफिस पहुंचकर जायजा लिया।

विधायक रजिस्ट्री कराने वाले से मिलकर बातें की। छोटी जमीन के रजिस्ट्री करने वाले रामजीवन विश्वकर्मा ने बताया कि 600 फिट जमीन लेने के लिए कब से परेशान थे। वे यहां जब भी आते थे रजिस्ट्री कराने एक ही जवाब मिलता था कि रजिस्ट्री में बेन है और अभी रजिस्ट्री नही होगी।

तानाशाही की वजह से रूकी थी जमीनों की रजिस्ट्री

आज कांग्रेस पार्टी के मुखिया भुपेश बघेल ओर कांग्रेस पार्टी के द्वारा छोटे रकबे की जमीन का रजिस्ट्री हो सका है। पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने कहा कि बीजेपी ने तानाशाही चलाते हुए छोटे जमीनों पर रोक लगा रखी थी। इसकी वजह से मध्यम वर्गीय परिवार अपने जरूरत के समय जो जमीन रखे थे।

शादी विवाह के लिए रखे रहते थे कि इसे बेचकर बच्चो की शादी पढ़ाई लिखाई करेगे पर ऐसा न हो पाया जनता की तकलीफ को मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने समझा और तत्काल छोटे नामांकन,बटांकन जमीन से रोक को हटाकर रजिस्ट्री करने की अनुमति दी।

मध्यम वर्गीय परिवार ने भुपेश बघेल ओर काँग्रेस पार्टी को धन्यवाद दिया आज कांग्रेस पार्टी के कारण आम जनता के चेहरे पर मुस्कान लौट आई विकास उपाध्याय के साथ रजिस्ट्री ऑफिस में मुख्य रूप से दिब्य किशोर निआल,हैदर अली,रामदास कुर्रेविकास पाठक,अमित शर्मा,गोलु,यश, मनोज दाहते आदि कांग्रेस के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

1
Back to top button