स्वतंत्रता दिवस के दिन इन कैदियों को मिलेगी रिहाई

शासन के निर्देश पर अफसर ऐसे बंदियों का जुर्माना भरकर रिहाई करेंगे।

मुरादाबाद : स्वतंत्रता दिवस के दिन जेल की चार दीवारी से जुर्माना नहीं भर पाने के कारण जेल में सजा काट रहे बंदियों को आजादी मिल जाएगी। शासन के निर्देश पर अफसर ऐसे बंदियों का जुर्माना भरकर रिहाई करेंगे।

सूबे की सभी जेलों में शासन के इस आदेश के तहत बंदियों की रिहाई की जा रही है, जिसमें मुरादाबाद जिला कारागार से तीन बंदियों को छोड़ा जाएगा। कारागार के अफसरों ने बताया कि जिन तीन बंदियों को छोड़ा जा रहा है, उसमें अमरोहा जनपद के हसनपुर निवासी इमरान, मुरादाबाद के नागफनी निवासी शफी अहमद, बुलंदशहर निवासी मुनेश को छोडऩे का निर्णय लिया गया है।

अफसरों का कहना है कि अभी बंदियों को छोड़े जाने की संख्या में इजाफा भी हो सकता है। अंतिम दिन तक बहुत से ऐसे बंदी आ सकते हैं, जो जुर्माना न भर पाने के कारण जेल में सजा काटेंगे। उन सभी बंदियों को चिह्नित कर छोड़ा जाएगा।

वरिष्ठ जेल अधीक्षक एसएचएम रिजवी ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस पर तीन बंदियों की रिहाई का निर्णय लिया गया है। यह वह बंदी हैं, जो जुर्माने की धनराशि न जमा कर पाने के कारण सजा काट रहे हैं। बंदियों की संख्या में इजाफा होने भी संभावना है।

स्वतंत्रता दिवस पर सूबे में लगेंगे नौ करोड़ पौधे

कारागार से जो बंदी छुड़ाए जाते हैं। उनके जुर्माने की राशि कुछ स्वयंसेवी संस्थाओं के जरिये जमा कराई जाती है। कभी-कभी संस्था के सदस्य जुर्माने की धनराशि ज्यादा होने के कारण जमा नहीं कर पाते हैं। ऐसे मामलों में जिला कारागार के अफसर स्वयं अपने वेतन से बंदी के जुर्माने की धनराशि को जमा कर छुड़ाने का काम करते हैं।

वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने 20 हजार रुपये जमा करवाए

वरिष्ठ जेल अधीक्षक के द्वारा अमरोहा के एक बंदी को छुड़ाने के लिए स्वयं 20 हजार रुपये जमा किए थे। हालाकि इसमें उन्होंने संस्था के साथ अपने अधीनस्थ अफसरों का भी सहयोग लिया था।

Tags
Back to top button