डीएपी खाद में राहत, झूठ बोल रही है सरकार और मुख्यमंत्री :देवजी भाई पटेल

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल ने मुख्यमंत्री की घोषणा को सफेद झूठ करार दिया

रायपुर: वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल ने मुख्यमंत्री की घोषणा को सफेद झूठ करार दिया है। मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेश के किसानों को डीएपी खाद पर छूट देने की बात कही है, जो सरासर झूठ और जनता को दिग्भ्रमित करने वाला है।

सच तो यह है कि केंद्र सरकार और मोदी जी डीएपी खाद निर्माण के औसत उत्पादन की मूल्य वृद्धि जिसमें अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाद निर्माण के कच्चे माल की कीमत में वृद्धि के चलते 2400 रुपये की दर तय की गई उसमें 140% सब्सिडी देकर देश के किसानों को राहत देने का प्रयास हुआ देश के किसानों के हित में 2400 रुपए के जगह 1200 रुपए में डीएपी खाद उपलब्ध कराने का निर्णय लिया , जो पूरे देश के किसानों की हित में है।

जो सरकार ने सोसाइटी के माध्यम से 1800 रुपए में ही बेंच कर केंद्र के निर्णय का उल्लंघन तो किया ही वही किसानों से जबरिया 600 रुपए अवैध वसूली भी शुरू कर दिया गया , प्रदेश के जिलों से 4 – 5 दिन पूर्व ही इस बात की भनक लगी, जिसका पुरजोर भाजपा ने किया , अवैधानिक वसूली बंद किया जाए, जिला केंद्रीय सहकारी बैंक के एम. डी को पत्र लिखा गया , तब कही जाकर 600 रुपए की अवैध वसूली रुकी, परंतु झूठ लबारी के आड़ में बनी कांग्रेस की सरकार और उनके मुखिया डी ए पी खाद के लिए 1200 रुपए यथावत रखा जाकर 600 रुपये अतिरिक्त सब्सिडी का निर्णय जो केंद्र सरकार का है उसे भी अपनी उपलब्धि बताया जा रहा है, राज्य सरकार यदि डीएपी खाद की आड़ में कृषि लागत कम करने की बात कहा है तो बताएं 1800 सौ रुपए की मूल्य का खाद 1200 रुपए में बेचने के निर्णय पर अंतर की राशि 600 रुपए के हिसाब से कितनी राशि की भरपाई केंद्र सरकार को की है?

क्या खाद के मूल्य निर्धारण का अधिकार राज्य शासन को है स्पष्ट करे। प्रदेश की सरकार खरीफ फसल वर्ष 2021 में किसानों को घटी हुई नई दर पर खाद उपलब्ध कराने का श्रेय सिर्फ और सिर्फ भारत के प्रधानमंत्री को जाता है ।

झूठ फरेब की सरकार अनर्गल मिथ्या प्रचार न करें । अपनी नाकामी को छुपाने का कार्य न करें । 20 मई 2021 को ही माननीय प्रधानमंत्री एवं केंद्रीय कृषि मंत्री जी ने बकायदा इसके लिए 14775 करोड़ का अतिरिक्त भार उठाने का फैसला सिर्फ किसानों के हित में लिया ।

श्री पटेल ने कहा कि, प्रदेश की कांग्रेस सरकार खुलेआम किसानों को ठगने में लगा है, एक तरफ गोबर खरीदी का ढिंढोरा पीट रहे है, वही अब किसानों को वर्मी खाद के आड़ में जबरिया खरीदने को मजबूर किया जा रहा है, जैविक खेती के आड़ में किसानों से ठगी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।

यही हाल 2003 – 4 के कांग्रेस की सरकार में जैविक खाद के नाम पर हाइजीन मल्टीप्लेक्स , हाइजीन अग्रोबैंड , हाइजीन एग्रोमीन, एवं क्रांति हर्बल खाद के आड़ में किसानों को ठग ठग कर करोड़ों का वारा न्यारा किया , और भाजपा की सरकार ने इसकी जांच कराकर दोषियों पर कार्यवाही भी की थी, और वही हाल वर्मी खाद के आड़ में किया जा रहा है, जब जब कांग्रेस की सरकार में बनी , तब तब किसानों को ठगने का काम किया ।

किसानों का शोषण इनकी नियत बन गई है, अब फिर जो वर्मी खाद 8 रुपए में बाजार में उपलब्ध है उसे सोसायटी के माध्यम से 10 रूपया प्रति किलो के हिसाब से किसानों को लेने के लिए बाध्य किया जा रहा है, देवजी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री , कृषि मंत्री से मांग किया कि , गोबर खरीदी के भ्रष्टाचार को छुपाने का प्रयास बंद करे , और तत्काल कलेक्टरों को निर्देशित करें कि किसानों को वर्मी खाद खरीदने के लिए बाध्य ना किया जाए। सचमुच बघेल किसान हितैषी हैं तो केंद्र द्वारा दिए गए धान के समर्थन मूल्य वृद्धि ₹72 के साथ-साथ विगत वर्ष के समर्थन मूल्य वृद्धि का भी लाभ प्रदेश के किसानों को दें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button