राष्ट्रीय

केरल में राहत तेज, देशभर से पहुंची मदद

-राशन-पानी लेकर पहुंचा आईएनएस 'दीपक'

कोच्चिः

केरल में भारी बारिश और बाढ़ के चलते हालात भयावह बने हुए हैं। नौसेना का एक जहाज राहत सामग्री लेकर रविवार को कोच्चि पहुंचा। राज्य 100 सालों की सबसे भीषण बाढ़ से गुजर रहा है, 3.15 लाख से ज्यादा लोग राहत कैंपों में ले जाए गए हैं। एर्नाकुलम, त्रिशूर, इडुक्की, पथनामथित्ता और चेंगन्नूर जिलों में हालात ज्यादा खराब हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, राज्य के अलग-अलग हिस्सों में मूसलाधार बारिश होने की संभावना है।

सर्वाधिक प्रभावित स्थानों जहां लोग पिछले तीन दिनों से भोजन या पानी के बिना फंसे हुए हैं, उनमें चेंगन्नूर, पांडलम, तिरुवल्ला और पथानामथिट्टा जिले के कई इलाके, एर्नाकुलम में अलुवा, अंगमाली और पारावुर में शामिल हैं।

देश के कई राज्यों ने केरल में भीषण बाढ़ के मद्देनजर आर्थिक मदद का ऐलान किया है। आंध्र प्रदेश ने 5 करोड़, दिल्ली ने 10 करोड़ , कर्नाटक ने 10 करोड़ रुपये, ओडिशा ने 10 करोड़ , पंजाब ने 10 करोड़ , तमिलनाडु ने 10 करोड़ , तेलंगाना ने 25 करोड़ , महाराष्ट्र ने 20 करोड़ , उत्तर प्रदेश ने 20 करोड़ , हरियाणा ने 10 करोड़ , पश्चिम बंगाल ने 10 करोड़ रुपए की मदद का आश्वासन दिया है।
भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस दीपक ने कोच्चि स्थित दक्षिणी नौसेना कमान पर राशन और पेयजल उतार दिया है।

यहां से यह सामग्री बाढ़ प्रभावित इलाकों में पहुंचाई जाएगी। वहीं मुंबई से बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री लेकर आईएनएस मैसूर केरल जाएगा। आईएनएस मैसूर में सामान लोड किया जा रहा है।

०-इसरो के 5 सैटेलाइट कर रहे मदद

बाढ़ से जूझ रहे केरल की मदद करने के लिए हर कोई आगे आ रहा है। इंडियन स्पेस रीसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO) भी बाढ़ से हो रही तबाही से निपटने में मदद कर रहा है। इसरो के पांच सैटेलाइट लगातार राहत कार्य में मदद कर रहे हैं।

टीओआई के मुताबिक इसरो से जुड़े एक अधिकारी ने जानकारी दी कि इनसैट 3DR, कार्टोसैट-2 और 2ए, रिसोर्ससैट-2, और ओशनसैट-2 लगातार ही बाढ़ की तस्वीरें भेज रहे हैं। इन तस्वीरों से बाढ़ की असली स्थिति का पता चल रहा है और राहत एवं बचाव कार्य की प्लानिंग करने में मदद मिल रही है।

०-यूनिवर्सिटी में बनाया गया कम्यूनिटी किचन

कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (सीयूएसएटी) में नेवी के 21 जवानों द्वारा कम्यूनिटी किचन बनाया गया है। स्थानीय लोगों और छात्रों की मदद से यह किचन पिछले तीन दिनों से बाढ़ पीड़ितों को भोजन मुहैया करा रहा है।

०-ऋषिकेश से रिवर राफ्टिंग वालंटियर्स पहुंचे केरल

केरल में राहत एवं बचाव कार्य जारी है। दक्षिणी वायु कमांड के एयर मार्शल बी सुरेश ने जानकारी दी कि अभी एयर फोर्स स्टेशन पर 288 बोट्स मौजूद हैं। ऋषिकेश से भी रिवर राफ्टिंग के कई सारे वालंटियर्स केरल आ गए हैं। 26 हेलीकॉप्टर ऑपरेशन में लगे हुए हैं। त्रिवेंद्रम और कोच्चि में टास्क फोर्स कमांडर्स की एक-एक टीम तैनात है।

Tags
Back to top button