छत्तीसगढ़

बिलासपुर में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से न्यायालय के समक्ष रिमांड

जिला बिलासपुर में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से न्यायालय के समक्ष रिमाण्ड लेने वाला संभाग बिलासपुर में पहला थाना सिविल लाईन्स बना

भरत मंगवानी

बिलासपुर : जिला बिलासपुर में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से न्यायालय के समक्ष रिमाण्ड लेने वाला संभाग बिलासपुर में पहला थाना सिविल लाईन्स बना

◆सिविल लाईन्स के 09 प्रकरणों का 01 घण्टे के अन्दर रिमाण्ड माननीय न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।

◆10 आरोपियों जिसमें एक महिला आरोपी को माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया।

◆थाना प्रभारी सिविल लाईन्स द्वारा सभी आरोपियों को बारी बारी प्रकरण के अनुसार माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया।

◆कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव के आशंका एवं सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करने की दिशा में सिविल लाईन्स पुलिस द्वारा तकनीकी प्रयास।

◆माननीय न्यायालय के आदेशानुसार आरोपियों को विडियों कान्फ्रेसिंग के जरिए पेश किया।

◆श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेश के परिपालन में अभियान चलाकर किया गया था आरोपियेां को गिरफ्रतार।

◆सभी आरोपियों ने धारा 144 जा0फौ0 एवं सोशल डिस्टेंन्सिग का उल्लघंन किया था।

◆सभी आरोपियों का धारा 188 भादवि के तहत रिमाण्ड प्राप्त किया गया ।

कोरोना वायरस के संक्रमण के इस प्रतिकुल समय में माननीय न्यायालय के समक्ष विडियों कान्फ्रेसिंक के जरिए रिमाण्ड प्रस्तुत करने की संभाग में यह पहली कार्यवाही है। जिसमें सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन पुरी तरह से हुआ एवं माननीय न्यायालय के समक्ष लाकडाउन की स्थिति में भीड़भाड़ से रोकथाम किया जा सका।

बिलासपुर में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से न्यायालय के समक्ष रिमांड बिलासपुर में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से न्यायालय के समक्ष रिमांड बिलासपुर में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से न्यायालय के समक्ष रिमांड

 

Tags
Back to top button