घर में कराएं 9 दिन तक रामचरितमानस का पाठ दूर होंगे घर के वास्तुदोष

9 दिन तक अखंड कीर्तन भी करा सकते हैं

अगर आपके घर में है परेशानियां या पैसा आने के बाद भी नहीं चिक पा रहा तो इसके लिए वास्तुदोष कई हद तक जिम्मेदार है। घर में नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश घर के चौखट से होता है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर का वास्तु दोष को दोष को दूर करने के लिए घर में 9 दिन तक रामचरितमानस का पाठ कराएं। इससे घर का वास्तु दोष दूर होता है। साथ ही आप 9 दिन तक अखंड कीर्तन भी करा सकते हैं। इस कीर्तन से वास्तुजनित दोषों का निवारण होता है।

घर का वास्तु सही करने के लिए हाटकेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन कर सकते हैं। इस क्षेत्र में वास्तुपद नामक तीर्थ के दर्शन मात्र से ही वास्तुजनित दोषों का निवारण होता है।

यह एक ऐसा शिव मंदिर है, जहां पुरुषों को पैंट-शर्ट और कुर्ता-पायजामा पहनकर रुद्राभिषेक करना पूरी तरह वर्जित है।

भारतीय संस्कृति में स्वास्तिक का विशेष महत्व प्राप्त है। वास्तु विज्ञान के अनुसार, घर के मुख्य द्वार पर सिंदूर से नौ अंगुल लंबा, नौ अंगुल चौड़ा स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं। ऐसा करने से चारों ओर आ रही नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है और वास्तु दोष भी हटता है।

वास्तु विज्ञान में रसोई घर को घर की सुख समृद्धि के लिए बहुत खास माना गया है। अगर रसोई घर गलत स्थान पर है तो अग्निकोण में बल्ब लगा दें और हर रोज ध्यान से सुबह-शाम उस बल्ब को जरूर लगाएं। इससे आपके रसोई का वास्तु दोष दूर हो जाएगा।

Back to top button