छत्तीसगढ़

नवीन जिला गौरेला पेंड्रा मरवाही का दूरस्थ ग्राम पंचायत लमना जहां विकास का अभाव

सड़कों की अव्यवस्थाओ के कारण ग्रामीण परेशान, दूर दूर तक नहीं है विकाश/-वन विभाग की भूमिका भी संदिग्ध

रिपोटर – सुमित जालान
जिला – गौरेला पेंड्रा मरवाही

गौरेला पेंड्रा मरवाही : सरकार जहाँ एक ओर कहती हैं, कि हमने प्रदेश के हर दुरस्त गाँव में सड़क बनवाई है वही वास्तविकता कुछ और है अभी भी प्रदेश के कई गांव जहाँ अभी तक सड़क नही बानी है गाँव के लोग सड़क बनने की आस लगाए हुए हैं। की उनके गांव की सड़क एक ना एक दिन अवश्य बनेगी। लेकिन ऐसा नही है। ऐसा ही एक गाँव है जहाँ ग्रामीणो को बरसात मे कीचड़ पे चलने के अलावा कोई दूसरा उपाय नही है। नवीन जिले गौरेला पेंड्रा मरवाही के गौरेला ब्लाक का दूरस्थ आंचल ग्रामीण इलाका बस्तीबगरा क्षेत्र के ग्राम पंचायत लमना हैं। जिसका एक मोहल्ला है। पैरिटिकरा जिसकी जनसंख्या लगभग 5 सौ से ऊपर है।

पंचायत के तहत मुहल्ले मे सड़क बनी है परंतु मेन रोड तक पहुँचने के लिए पगडंडी का सहारा लेना ही पड़ता है क्योकि मोहल्ले और मेन रोड के बीच मे लगभग 7 सौ मीटर के एरिए मे आज तक सड़क नही बन पाई है इसका कारण वन विभाग को बताया जा रहा है क्योंकि ये एरिया वन विभाग के अंर्तगत ही आता है। ग्राम पंचायत सरपंच सुमित्रा वाकरे ने बताया कि पैरिटिकरा मे स्कूल उप स्वास्थ केंद्र भी है सड़क ना होने के कारण बरसात मे इनका संचालन भी प्रभावित होता है।

पैरिटिकरा निवासी धीर सिंह ने बताया

वन विभाग की उदासीनता के कारण ही आज तक इस एरिए मे सड़क नही बन पाई है। पैरिटिकरा निवासी धीर सिंह ने बताया कि अगर वन विभाग जन सहयोग की भावना से काम करता तो ये पहुंच मार्ग अब तक बन गया होता। वहीं पैरिटिकरा के ग्रामीण धरम सिंह ने बताया कि शासन प्रशासन से मांग करते करते थक चुके है। पर अब तो बस इस इंतजार मे है। कि कब ये सड़क बने और गांव के लोग बरसात के मौसम मे बिना किसी परेशानी के मुख्य मार्ग तक पहुंच पाएंगे।

Tags
Back to top button