छत्तीसगढ़

यूआरडी हटने से छोटे व्यापारियों की समस्याएं खत्मः मित्तल

रायपुर : लघु उद्योग भारती के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश मित्तल ने कहा कि पिछले दिनों जीएसटी परिषद द्वारा लिए गए निर्णय से 20 लाख से कम टर्न ओवर वाले छोटे व्यापारियों(यूआरडी) की समस्या समाप्त हो गई है। उन्होंने परिषद द्वारा व्यापारी हित में लिए गए निर्णयों के लिए प्रधानमंत्री,वित्तमंत्री तथा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह का तहे दिल से स्वागत किया।
वे आज राजधानी में पत्रकारवार्ता में बोल रहे थे। श्री मित्तल ने कहा कि रिवर्स चार्ज मेकेनिजम स्कीम ( आरसीएम) को 6 अक्टूबर की बैठक में हटाने से छोटे अन रजिस्टर्ड व्यापारियों से अब सभी के द्वारा व्यापार संभव हो गया है। इससे उनके द्वारा ट्रांस्पोर्टरों द्वारा मांगे जाने वाले जीएसटी नंबर की समस्या भी समाप्त हो जाएगी तथा उनका माल आसानी से हो सकेगा। उल्लेखनीय है कि पहले जीएसटी नंबर व्यापार के आधार कार्ड नंबर की तरह जरूरी हो गया था ट्रांस्पोर्टर बिना जीएसटी बिल के माल तक बुक नहीं करते थे। उन्होंने कहा यह सब आरसीएम कानून के कारण हो रहा था क्योंकि आरसीएम स्कीम के कारण यूआरडी से व्यापार करने पर स्वयं से चार्ज काटना पड़ता था। उन्होंने कहा कि इसके अलावा अब त्रैमासिक रिटर्न भरने सुविधा तथा सूक्ष्म तथा लघु उद्योगों को जाब वर्क करने की भी सुविधा दी गई है। वहीं तकनीकी तथा टैक्स विसंगतियों को भी दूर करने में लघु उद्योग भारती के सुझावों को ध्यान में रखा गया है। सरकार द्वारा व्यापारी हित में लिए गए इस निर्णय का स्वागत किया है।
वार्ता में सीएसआईडीसी के अध्यक्ष छगन मूदड़ा, लघु उद्योग भारती के प्रदेश अध्यक्ष सत्यनारायण अग्रवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश अग्रवाल व पुरूषोत्तम भिमनानी आदि प्रमुख रूप से उपस्थिति थे।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *