ऐप स्टोर से हटा दिया गया भारत में बेहद लोकप्रिय वीडियो ऐप TikTok

TikTok एंड्रॉयड और iOS प्लैटफॉर्म से ब्लॉक

नई दिल्ली: मद्रास हाईकोर्ट द्वारा टिकटॉक ऐप पर बैन लगाने का आदेश दिये जाने के बाद इस फैसले के खिलाफ TikTok ऐप की मालिक चीनी कंपनी Bytedance Technology ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कंपनी को कोई राहत न देते हुए उसकी याचिका खारिज कर दी थी.

लेकिन भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने मंगलवार को Google और Apple को अपने ऐप स्टोर से चीनी वीडियो एप्लिकेशन TikTok को हटाने के लिए कहा जिसके बाद भारत में बेहद लोकप्रिय वीडियो ऐप TikTok को ऐप स्टोर्स से हटा दिया गया है. इस ऐप को एंड्रॉयड और iOS दोनों प्लैटफॉर्म से ब्लॉक कर दिया गया है.

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, TikTok ने आदेश को अपमानजनक, भेदभावपूर्ण और मनमाना बताया है और प्रतिबंध पर कोई टिप्पणी नहीं की है. अपने बचाव में TikTok का कहना था कि इसे उस तरह की सामग्री के लिए उत्तरदायी नहीं ठहराया जा सकता है, जो प्लेटफ़ॉर्म पर थर्ड-पार्टीज़ अपलोड करती है.

TikTok ऐप पिछले एक साल में कुछ ज्यादा ही लोकप्रिय हुआ है. बता दें कि कंपनी ने पहले इसे म्यूजिकली (musically) के नाम से लॉन्च किया था, लेकिन बाद में इसका नाम बदलकर टिक टॉक (TikTok) रख दिया गया.

एक रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार वर्तमान समय में इस ऐप को दुनियाभर में तकरीबन 100 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है. आपको बता दें कि इस कंपनी के अधिकार चीनी कंपनी बाइटडांस (Bytedance) के पास है, जो दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली स्टार्टअप कंपनियों में से एक है।

1
Back to top button