नकारात्मकता दूर कर,घर में सकारात्मकता लाती है ‘सुगंध’

सुगंध को राशि अनुसार किस तरीके से करें प्रयोग ताकि ग्रहों का दुष्प्रभाव ना पड़े

सुगंध का प्रभाव हमारी ऊर्जा पर भी पड़ता है. इसके द्वारा आप अपने घर की नकारात्मकता को खत्म कर सकते हैं. घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे, इसके लिए आप सुगंध का इस्तेमाल कर सकते हैं. आइए जानते हैं सुगंध को राशि अनुसार किस तरीके से करें प्रयोग ताकि ग्रहों का दुष्प्रभाव ना पड़े.

सुगंध का हमारे जीवन में क्या महत्व है?

– मानव का जीवन मन से प्रभावित होता है और मन चलायमान है और मन मुख्य रूप से शरीर के चक्रों से प्रभावित होता है जो कुल मिलाकर 7 हैं

– दुनिया में तीन चीजें ऐसी हैं जो चक्रों पर सीधा असर डालती हैं – रंग,सुगंध और शब्द (मंत्र)

– हर व्यक्ति के मन की अलग अलग अवस्था होती है और मन की अवस्था के अनुसार अलग सुगंध का प्रयोग करें तो मन की जटिलतायें दूर की जा सकती हैं

– सुगंध के सही प्रयोग से एकाग्रता बढ़ायी जा सकती है,स्नायु तंत्र और अवसाद जैसी बीमारियाँ दूर की जा सकती हैं

– सुगंध हमारे काम करने और विचार की क्षमता पर असर डालता है , इसीलिए पूजा और उपासना के दौरान इसका व्यापक प्रयोग होता है

– कोई भी ग्रह नक्षत्र आपको जिंदगी में यदि परेशान कर रहा हो तो आप अलग-अलग सुगंध का प्रयोग करके अपने ग्रह नक्षत्रों के बुरे प्रभाव को शांत कम कर सकते हैं

– सूर्य ग्रह यदि आपकी कुंडली में बुरे प्रभाव दे रहा हो तो उसके दुष्प्रभाव को कम करने के लिए केसर या गुलाब की सुगंध का प्रयोग करें

– चंद्र ग्रह यदि आपको पीड़ित करें तो इससे निपटने के लिए आप को चमेली और रात रानी के इत्र का प्रयोग करना चाहिए

Back to top button