छत्तीसगढ़

क्रमोनत वेतनमान देते हुए सबका संविलियन करने से हो सकता है समाधान : रंजय सिंह

रोशन सोनी

सूरजपुर।

छतीसगढ़ में शिक्षा कर्मियों के लंबे संघर्ष के बाद शासन द्वारा संविलियन की घोषणा कर आवश्यक कार्यवाही पूर्ण कर संविलियन कर दिया गया है परन्तु अभी भी शिक्षाकर्मीयो में विसंगति पूर्ण आदेश के कारण असंतोष व्याप्त है ।

छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री रंजय सिंह ने बताया कि शासन द्वारा 8 वर्ष पूर्ण शिक्षक पंचायत का संविलियन किया गया है जिसका संघ स्वागत करता है.

परन्तु वास्तव में खुशी तब होती जब क्रमोनत वेतनमान के साथ वर्षबन्धन समाप्त कर सभी पंचायत शिक्षकों का एक साथ शिक्षा विभाग में संविलियन होता, विदित हो कि शिक्षाकर्मी संघ समान काम समान वेतन की मांग को लेकर 23 वर्षो से संघर्ष रत्त थे एवं इसी सत्र में छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के बैनर तले बृहद आंदोलन किया था.

अभी शासन द्वारा बड़ा निर्णय करते हुये 1 जुलाई से 8 वर्ष पूर्ण करने वाले पंचायत शिक्षकों का शिक्षा विभाग में संविलियन किया गया है,संविलियन से प्रमुख समस्या जो वेतन का रहा है समय पर नही मिल पाता था उसका समाधान हो गया अब माह के अंत तक संविलियन शिक्षकों का वेतन भुगतान हो जा रहा है परंतु जो संविलियन की घोषणा की गई इसमें काफी विसंगति है शासन के निर्णय से लम्बे समय से कार्यरत्त शिक्षाकर्मियों एवं आठ वर्ष से कम के शिक्षा कर्मियों को कोई विशेष आर्थिक लाभ नही हुआ है।

जिससे इस वर्ग के मन मे भारी निराशा के भाव है वर्तमान में शासकीय कर्मचारियों के जैसे क्रमोनत वेतनमान के साथ वेतन निर्धारण करने से सभी शिक्षकों को लाभ होता साथ ही वर्ष बंधन भी समाप्त कर सभी का संविलियन एक साथ करना चाहिए था।

वर्तमान समय मे सबसे ज्यादा असंतोष सहायक शिक्षक वर्ग में है क्यो की पुनरीक्षित वेतन निर्धारण में विसंगति पूर्ण निर्धारण किया गया था जो अभी भी कायम है जिसके कारण सहायक शिक्षक पंचायत एवं शिक्षक पंचायत के वेतन में काफ़ी अंतर हो गया है, इस वर्ग को संविलियन से कोई विशेष आर्थिक लाभ नही हो पा रहा है वही कई शिक्षक पंचायत 10 वर्ष या इससे अधिक वर्षो से एक ही पदों पर पदोन्नत्ति नही होने के कारण कार्यरत्त है।

इन्हें भी अत्यधिक आर्थिक लाभ नही हुआ है जिससे इस वर्ग के शिक्षा कर्मियों में भी निराशा के भाव है । रंजय सिंह ने बताया कि छतीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ के द्वारा प्रदेश भर में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह एवं उनके मंत्री मंडल का प्रत्येक जिला में भव्य स्वागत कर मांग पत्र सौपा गया है।

प्रत्येक जगह संघ ने मांग किया है की क्रमोनत वेतनमान देते हुए सबका संविलियन करे,दिवंगत शिक्षक पंचायत के परिवार को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान करे एवं संविलयन शिक्षकों हेतु अलग से नियम निर्धारण करने की आवश्यकता नही है जो शासकीय शिक्षकों के नियम पूर्व से है वही सभी पर लागू करें , तभी सरकार के संविलियन का निर्णय सार्थक हो पायेगा ।

प्रदेश महामंत्री रंजय सिंह ने शासन से मांग किया है कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह विकास यात्रा के दौरान ही विसंगति का उचित समाधान करते हुये सभी शिक्षक पंचायत का संविलियन करने की घोषणा करें हम सब शिक्षक पंचायत शासन का आभारी रहेंगे ।

Summary
Review Date
Reviewed Item
क्रमोनत वेतनमान देते हुए सबका संविलियन करने से हो सकता है समाधान : रंजय सिंह
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags