21 सूत्रीय मांग को लेकर फिर से हंगामा

19 फरवरी को सर्व आदिवासी समाज द्वारा 21 सूत्रीय मांगों को लेकर शहर में प्रदर्शन किया गया था. वहीँ इन मांगों के खिलाफ विकास मरकाम जो कि अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य हैं,  और संवैधानिक पद पर बैठे हुए हैं.

रायपुर. विगत  19 फरवरी को सर्व आदिवासी समाज द्वारा 21 सूत्रीय मांगों को लेकर शहर में प्रदर्शन किया गया था. वहीँ इन मांगों के खिलाफ विकास मरकाम जो कि अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य हैं,  और संवैधानिक पद पर बैठे हुए हैं.

एक टीवी चैनल पर प्रवक्ता के तौर पर डिबेट में शामिल होने गए. इस डिबेट में इन्होनें सर्व आदिवासी समाज के 21 सूत्रीय मांगों को नकारात्मक बताया.

इस बात पर नाराज सर्व आदिवासी समाज द्वारा कड़ी आपत्ति की गई एवं उन्हें पद से हटाने की मांग की. सर्व आदिवासी समाज के प्रांताध्यक्ष बीपीएस नेताम प्रधान नागरची समाज के लोगों के द्वारा 28 फरवरी को  प्रेस क्लब रायपुर में वार्ता में कहा गया कि समाज विकास मरकाम द्वारा किए गए कार्य के बारे में सरकार को अवगत कराया गया है और यदि 15 दिनों के अंदर सरकार उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करती है तो समाज न्यायालय में जाने को बाध्य होगा.

new jindal advt tree advt
Back to top button