आरक्षक ने दिखाई बहादुरी, ट्रक और ड्रायवर को जलने से बचाया

बंद केबिन में खाना बनाते समय हुआ हादसा

अंकित मिंज

बिलासपुर।

सकरी थाना क्षेत्र में बहुत बड़ा हादसा होने से बच गया। राहगीर की सूझबूझ और डायल 112 के सहयोग से आरक्षक ने ट्रक और ड्रायवर को जलने से बचा लिया। बहरहाल आरक्षक की सूझबूझ और बहादुरी को लेकर लोगों में जमकर चर्चा है।

एडिश्नल एसपी अर्चना झा ने बताया कि बीती रात एक बार फिर राहगीर की सजगता और डायल 112 के सहयोग से ट्रक और ड्रायवर को बचा लिया गया है। एडिश्नल एसपी ने जानकारी दी है कि सकरी थाना क्षेेत्र के पुराने शराब दुकान के पास एक राहगीर ने सड़क किनारे खड़े बंद ट्रक केबिन के अन्दर से धुआं निकलते देखा।

राहगीर ने मामले की जानकारी तत्काल डायल 112 दी। डायल 112 से मामले की जानकारी थाने में मौजूद आरक्षक मुकेश सूर्यवंशी को हुई। मुकेश सूर्यवंशी तत्काल मौके पर पहुंच गया।

एडिश्नल एसपी के अनुसार साढे आठ बजे घटना स्थल पहुंंचकर आरक्षक मुकेश सूर्यवंशी ने देखा कि ट्रक का केबिन बंद है। अन्दर से धुंआ निकल रहा है। आरक्षक ने तत्काल केबिन के कांच को तोड़ा। अन्दर झांककर देखा कि ड्रायवर गहरी नींंद में था। चालू स्टोव पर खाना बन रहा था। मुकेश सूर्यवंशी ने तत्काल ड्रायवर को जगाकर बाहर निकाला। आग को किसी तरह काबू भी किया।

ट्रक केबिन से ड्रायवर निकलने के बाद चालक ने अपना नाम नरेश कैवर्त निवासी पाली जिला कोरबा होना बताया। ड्रायवर ने जानकारी दी कि वह जे,एस, बाली ट्रांसपोर्ट की गाड़ी चलाता है। खाना बनाने के लिए ट्रक को सड़क किनारे खड़ा किया। अंदर स्टोव जलाक खाना बनाने लगा। इसी बीच उसे गहरी नींद आ गयी। स्टोव के हिट होने के कारण ट्रक के अंदर की सीट में आग लग गयी।

जान बचने के बाद चालक ने आरक्षक का शुक्रिया अदा किया। बताते चले कि कांच तोड़ने के दौरान आरक्षक मुकेश सूर्यवंशी के हाथ में गहरी चोट भी पहुंची है। फिलहाल आरक्षक की सूझबूझ और बहादुरी को लेकर लोगों में जमकर चर्चा है।

new jindal advt tree advt
Back to top button