भूपेश-ताम्रध्वज पर भड़ास निकालकर भाजपा चले पीसीसी उपाध्यक्ष घनाराम साहू

कांग्रेस से दिया इस्तीफा, कल अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा में होंगे शामिल

रायपुर।

कांग्रेस की छत्तीसगढ़ इकाई को विधानसभा चुनाव की पूर्व संध्या पर रविवार को तगड़ा राजनीतिक झटका लग गया। प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) उपाध्यक्ष घनाराम साहू ने इस्तीफा दे दिया है। वह सोमवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा का दामन थामेंगे।

तीन बार कांग्रेस के विधायक रहे घनाराम साहू ने पार्टी नेतृत्व को अपना इस्तीफा भेज दिया है। उन्होंने पीसीसी चीफ भूपेश बघेल और सांसद ताम्रध्वज साहू पर संगीन आरोप लगाया है। दोनों के खिलाफ प्रताड़ित करने और साहू समाज की उपेक्षा लगाते हुए घनाराम ने कांग्रेस से किनाराकशी का निर्णय लिया है।

अपने पत्र में घनाराम साहू ने कहा है कि वह पांच साल से पार्टी के उपाध्यक्ष है, लेकिन उनकी न तो कोई पूछ—परख होती है और न ही उन्हें कोई जिम्मेदारी दी जाती है। ताम्रध्वज साहू पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि दुर्ग ग्रामीण से एक महिला प्रत्याशी का बी फार्म काटकर खुद उनकी सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

साहू समाज के दिग्गज नेताओं में से एक माने जाने वाले घनाराम साहू ने कहा है कि उन्होंने अपना इस्तीफा भूपेश बघेल को भेज दिया है।

उल्लेखनीय है कि घनाराम साहू अविभाजित दुर्ग, जिसमें बालोद और बेमेतरा जिले भी शामिल थे, के दो बार अध्यक्ष रहे हैं। वर्ष 1972 में वह निर्दलीय चुनाव जीते थे। वर्ष 2003 और 2008 में घनाराम साहू गुंडरदेही क्षेत्र से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव हार गए। साहू समाज में घनाराम साहू की गहरी पैठ बताई जाती है। वह लंबे समय से कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष भी हैं। इस वर्ष वह गुंडरदेही से कांग्रेस की टिकट मांग रहे थे। उन्होंने नामांकन फॉर्म भी खरीद लिया था, लेकिन बाद में उन्होंने नामांकन नहीं भरा।

Tags
Back to top button