लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत समय-सीमा में आवेदनों का निराकरण करें : कलेक्टर

धान खरीदी में अतिरिक्त सतर्कता बरतें

हितेश दीक्षित

गरियाबंद।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने मंगलवार को समय सीमा की बैठक में शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के अंतिम सप्ताह में अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि 31 जनवरी तक धान खरीदी किया जाना है। अतः विभाग मुस्तैद रहे। बैठक में जिला पंचायत सीईओ आर के खुटे, वनमण्डलाधिकारी राजेश पाण्डेय, संयुक्त कलेक्टर जे.आर. चैरसिया एवं विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर ने यह सुनिश्चित करने कहा कि वास्तविक किसानों का ही धान खरीदी किया जाए। उन्होंने खाद्य विभाग सहित संबंधित विभागों को ओड़िसा सीमा पर चैकसी करने कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने के भी निर्देश दिये है, साथ ही जिला अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर भी माॅनिटर्रिंग करने कहा गया है। श्री धावड़े ने कहा कि राजस्व अमला व जनपद सीईओ भी धान खरीदी का माॅनिटरिंग करें।

धान खरीदी की समीक्षा करते हुए बताया गया कि जिले में 27 लाख क्विंटल धान खरीदी लक्ष्य के विरूद्ध 25 लाख 50 हजार क्विंटल धान क्रय कर लिया गया है। समीक्षा में लोक सेवा गारंटी अधिनियम अंतर्गत लंबित आवेदनों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि शासन के मंशा अनुरूप हितग्राहियों से प्राप्त आवेदनों का निर्धारित समय-सीमा में निराकरण सुनिश्चित किया जाए।

उन्होंने अधिकारियों से इस अधिनियम के तहत शामिल सेवाओं के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर श्री धावड़े ने वन अधिकार मान्यता पत्रों की समीक्षा करते हुए कहा कि पात्र हितग्राहियों को ही वन अधिकार पत्र देना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जो आवेदन निरस्त किया गया है, उन पर पुनर्विचार कर समीक्षा करें। धावड़े ने कहा कि विकासखण्ड स्तर पर कार्यशाला का आयोजन कर इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करें और पंचायतों में मुनादी भी किया जाए। ग्रामीण जरूरतों के अनुरूप समुदायिक पत्रों के प्रकरण भी प्राथमिकता से तैयार किया जाए।

उन्होंने जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को इस विषय पर ग्राम सभा में स्पष्ट चर्चा कराने के निर्देश दिये हैं। मनरेगा के तहत चल रहे कार्यो की समीक्षा करते हुए श्री धावडे़ ने कहा कि प्रत्येक ग्राम में कार्य प्रारंभ करें तथा कार्यो को पूर्व से स्वीकृत कराकर रख लेवें। जिला पंचायत सीईओ श्री खुंटे ने बताया कि मनरेगा अंतर्गत जिले में दो सौ करोड़ रूपये का कार्य स्वीकृत किया गया है तथा कार्यो की कोई कमी नहीं है।

उन्होंने बताया कि 23 जनवरी से ग्राम सभा का आयोजन होगा, जिसमें चारागाह और गौठान के लिए जमीन का चिन्हाकंन कर आबंटित किया जाएगा। शिक्षा की गुणवत्ता के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को नियमित दौरा करने के निर्देश भी दिये गये हैं।

उन्होंने कहा कि अभी वार्षिक परीक्षा का महत्वपूर्ण समय है अतः शिक्षक शाला में नियत समय पर आये और विद्यार्थियों को अध्यापन करायें। बैठक में 26 जनवरी की तैयारी के संबंध में भी चर्चा की गइ्र्र एवं सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन करने के निर्देश दिये गये। बताया गया कि अंतिम रिहर्सल 24 जनवरी को होगा। सभी कार्यालयों में सुबह 7.30 बजे ध्वजारोहण होगा तथा जिला कार्यालय में सुबह 8 बजे एवं मुख्य कार्यक्रम स्थल में सुबह 9 बजे ध्वजारोहरण सम्पन्न होगा।

15 दिवस के अंदर निर्धारित प्रारूप में कर सकते हैं आवेदन

गरियाबंद जिले के उपभोक्ता फोरम में महिला सदस्य के एक रिक्त पद हेतु 15 दिवस के अंदर निर्धारित प्रारूप में कलेक्टर कार्यालय (खाद्य शाखा) जिला गरियाबंद में आवेदन किया जा सकता है। खाद्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार उपभोक्ता फोरम में महिला सदस्य का एक पद 21 अप्रैल 2018 से रिक्त हो गया है, जिसकी पूर्ति किया जाना आवश्यक है।

उपभोक्ता फोरम में महिला सदस्य की भर्ती हेतु निर्धारित अर्हता के अनुसार आवेदिका की उम्र 35 वर्ष से कम न हो। मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री रखती हो। योग्यता, सत्यनिष्ठा और अटलता धारित महिला हो। व्यवसायिक, विधि, वाणिज्य, लेखांकन, उद्योग, सार्वजनिक कार्य अथवा प्रशासन की समस्याओं के साथ कार्य करने में लगभग 10 वर्षो की पर्याप्त जानकारी और अनुभव हो।

उपरोक्त अर्हता रखने वाली महिला उपभोक्ता फोरम की सदस्य हेतु निर्धारित प्रारूप में कलेक्टर कार्यालय (खाद्य शाखा) जिला गरियाबंद में 15 दिवस के अंदर आवेदन कर सकती हैं। अधिक जानकारी के लिए कलेक्टर कार्यालय में खाद्य शाखा में संपर्क किया जा सकता है।

रोजगार एवं अन्य आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के लिए अद्यतन कराएं अपना मोबाईल नम्बर

जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र गरियाबंद में रोजगार एवं स्वरोजगार हेतु पंजीकृत आवेदकों के पंजीयन उपरांत स्थिति की टेकिंग की जायेगी। पंजीकृत आवेदकों को रोजगार एवं स्वरोजगार संबंधी सूचना एवं मार्गदर्शन दूरभाष के माध्यम से देने के लिए उनके अद्यतन मोबाईल नम्बर की आवश्यकता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिन आवेदकों द्वारा जिला रोजगार कार्यालय, गरियाबंद में पंजीयन कराते समय मोबाईल नम्बर नहीं दिया गया है या पंजीयन के समय दिये गये मोबाईल नम्बर बदल गये हैं, तो यथाशीघ्र जिला रोजगार कार्यालय, गरियाबंद में उपस्थित होकर या इस कार्यालय के दूरभाष नम्बर 07706-241269 में अपना मोबाईल नम्बर संबंधी जानकारी दे सकते हैं, ताकि उन्हें रोजगार के अवसर एवं अन्य आवश्यक जानकारियां समय-समय पर प्रदाय की जा सके।

जनपद पंचायत छुरा के सामान्य सभा की बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आर.के खुटे ने जनपद पंचायत छुरा में विगत 10 जनवरी को आयोजित सामान्य सभा की बैठक में अनुपस्थित पाये गये अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया है। जिन अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है, उनमें अनुविभागीय अधिकारी जल संसाधन विभाग पाण्डुका, वन परिक्षेत्र अधिकारी छुरा, वन परिक्षेत्र अधिकारी पाण्डुका, छुरा के ही परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, सहायक अभियंता विद्युत विभाग, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी और सहकारिता विस्तार अधिकारी के नाम शामिल हैं।

कारण बताओ सूचना पत्र में कहा गया है कि जनपद पंचायत छुरा के सामान्य सभा की बैठक विगत 10 जनवरी को आयोजित की गई थी। अधिकारियों को बैठक की सूचना उचित माध्यम से देने के बावजूद वे अनुपस्थित थे, जिस कारण विभागीय जानकारी प्राप्त नहीं हुई और समीक्षा नहीं हो पाई।

अधिकारियों की अनुपस्थिति पर जनपद पंचायत सदस्यों ने नाराजगी व्यक्त की गई। शासन के निर्देशों व जनपद कार्यालय द्वारा प्रेषित पत्र की अवहेलना स्वेच्छाचारिता एवं अनुशासन हीनता का द्योतक है। इस कारण अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी कर तीन दिवस के भीतर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने कहा गया है।

दिव्यांगजनों के सर्वेक्षण के लिए मुनादी करने के निर्देश

राज्य शासन के निर्देशानुसार दिव्यांगजनों का डोर-टू- डोर सर्वेक्षण वी.एर्ल.इ. (टस्म्) के माध्यम से किया जायेगा। वी.एल.ई द्वारा प्रत्येक घर में जाकर सर्वेक्षण किया जा रहा है। सर्वेक्षण के उपरांत दिव्यांगजनों को शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिया जाना है।

समाज कल्याण विभाग के उप संचालक ने जिले के सभी नगर पालिका एवं नगर पंचायतों के सभी वार्डो में इस आशय की मुनादी कराने एवं संबंधित वार्डो के पार्षदों को जानकारी देने के निर्देश दिये गये है ताकि, कोई भी दिव्यांग इस सर्वेक्षण से वंचित न हो।

जनपद पंचायत छुरा के सामान्य सभा की बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आर.के खुटे ने जनपद पंचायत छुरा में विगत 10 जनवरी को आयोजित सामान्य सभा की बैठक में अनुपस्थित पाये गये अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया है।

जिन अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है, उनमें अनुविभागीय अधिकारी जल संसाधन विभाग पाण्डुका, वन परिक्षेत्र अधिकारी छुरा, वन परिक्षेत्र अधिकारी पाण्डुका, छुरा के ही परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग, खण्ड चिकित्सा अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी, खण्ड स्त्रोत समन्वयक, सहायक अभियंता विद्युत विभाग, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी और सहकारिता विस्तार अधिकारी के नाम शामिल हैं।

कारण बताओ सूचना पत्र में कहा गया है कि जनपद पंचायत छुरा के सामान्य सभा की बैठक विगत 10 जनवरी को आयोजित की गई थी। अधिकारियों को बैठक की सूचना उचित माध्यम से देने के बावजूद वे अनुपस्थित थे, जिस कारण विभागीय जानकारी प्राप्त नहीं हुई और समीक्षा नहीं हो पाई। अधिकारियों की अनुपस्थिति पर जनपद पंचायत सदस्यों ने नाराजगी व्यक्त की गई।

शासन के निर्देशों व जनपद कार्यालय द्वारा प्रेषित पत्र की अवहेलना स्वेच्छाचारिता एवं अनुशासन हीनता का द्योतक है। इस कारण अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी कर तीन दिवस के भीतर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने कहा गया है।

1
Back to top button