छत्तीसगढ़

शासन के फैसलों को क्रियान्वित करने की जिम्मेदारी मैदानी अमलों पर : भूपेश बघेल

छत्तीसगढ़ तृतीय वर्ग कर्मचारी महासंघ एवं 36 संगठनों द्वारा मुख्यमंत्री का सम्मान

रायपुर।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आज यहां सप्रे शाला परिसर में छत्तीसगढ़ तृतीय वर्ग कर्मचारी महासंघ एवं 36 संगठनों द्वारा सम्मान किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि कर्मचारी महासंघ के बीच आकर मुझे हार्दिक प्रसन्नता हो रही है।

उन्होंने कहा कि शासन की नीतियों, निर्णयों और फैसलों का क्रियान्वयन और इसकी सफलता मैदानी स्तर पर कार्य करने वाले अधिकारी और कर्मचारियों पर रहती है। शासन की योजनाओं और कार्यक्रमों का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुंचाने में अधिकारी-कर्मचारी पूरी मेहनत और ईमानदारी से दायित्व निभाएं।

सरकार आपके हितों का पूरा ध्यान रखेगी। मुख्यमंत्री ने संघ की मांग पर कहा कि जिन मामलों में वित्तीय भार नहीं आएगा उसका निराकरण पहले किया जाएगा और वित्तीय भार वाले प्रकरणों का निर्णय परीक्षण करने के बाद होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार जनघोषणा पत्र के वायदों को पूरा करेगी। हमारी सरकार ने सबसे पहले किसानों के हित में ऋण मुक्ति और 2500 रूपए प्रति क्विंटल धान खरीदने का फैसला लिया और इस पर क्रियान्वयन भी प्रारंभ कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि लोकसभा सांसद राहुल गांधी 28 फरवरी को नया रायपुर में आयोजित कार्यक्रम में किसानों को ऋण मुक्ति पत्र वितरित करेंगे। बघेल ने कहा कि 13 दिसम्बर 2005 के पहले वन क्षेत्रों में जिनका कब्जा था उन्हें वन अधिकार मान्यता पत्र दिए जाएंगे।

इसके लिए निरस्त किए गए लगभग चार लाख पट्टों का परीक्षण कर पात्र व्यक्ति को लाभ दिलाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पशुओं के लिए गौठान और चरागाह के लिए स्थान चिन्हित कर वहां इसका विकास किया जाए, इससे रोजगार भी मिलेगा। चिन्हांकित स्थानों पर फैंसिंग का कार्य किए जाए और वहां पशुओं के गोबर से जैविक खाद और बायोगैस के संयंत्र लगाकर इसका व्यावसायिक उपयोग किया जा सकता है।

समारोह को नगर पालिक निगम रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे, छत्तीसगढ़ तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रांतीय संरक्षक नरेन्द्र चन्द्राकर ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर संघ के प्रांताध्यक्ष राकेश साहू सहित विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में कर्मचारी उपस्थित थे।

Tags
Back to top button