अंतर्राष्ट्रीय

ईरान, चीन और संयुक्त अरब अमीरात की कंपनियों पर प्रतिबंध

ट्रंप प्रशासन ने यह प्रतिबंध तेहरान पर दबाव बढ़ाने के मकसद से सत्ता छोड़ने के महज कुछ दिन पहले लगाए

वाशिंगटन: शिपिंग लाइंस और हथियार प्रसार पर तीन ईरानी संस्थाओं से व्यापार करने को लेकर ईरान के साथ पिछले कुछ सालों से जारी तनाव के बीच अमेरिका ने ईरान, चीन और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिए हैं।

ट्रंप प्रशासन ने यह प्रतिबंध तेहरान पर दबाव बढ़ाने के मकसद से सत्ता छोड़ने के महज कुछ दिन पहले लगाए हैं। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि वाशिंगटन ने सात कंपनियों पर रोक लगाई है। इनमें चीन स्थित जियांगयिन मास्कोट स्पेशल स्टीक और यूएई स्थित एक्सेंचर बिल्डिंग मटेरियल शामिल हैं।

साथ ही उन दो लोगों पर भी रोक लगाई गई है, जो ईरान से स्टील लाने और भेजने का काम करते हैं। पोम्पियो ने कहा, हथियारों के प्रसार के कारण ईरान की मरीन इंडस्ट्रीज ऑर्गेनाइजेशन, एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज ऑर्गेनाइजेशन और ईरान एविएश इंडस्ट्रीज ऑर्गेनाइजेशन को भी काली सूची में डाला गया है।

विदेश मंत्रालय ने ईरान के खिलाफ धातुओं से संबंधित प्रतिबंधों का दायरा भी बढ़ाया है। उन्होंने कहा, हमें जिन 15 उत्पादों के बारे में बताया है, उनका इस्तेमाल ईरान परमाणु, सैन्य या बैलेस्टिक मिसाइल कार्यक्रम में करता है, उन्हें भी इन प्रतिबंधों के अधीन लाया जाएगा। इन उत्पादों में कई तरह के एल्यूमीनियम व स्टील उत्पाद भी शामिल होंगे।

अमेरिकी वित्त मंत्रालय ने क्यूबा के गृह मंत्रालय और उसके नेता पर मानवाधिकारों के गंभीर उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उन पर पाबंदियां लगाई हैं। इस कदम से क्यूबा के मंत्रालय और उसके प्रमुख ब्रिगेडियर जनरल लाजारो अल्बर्टो अलवारेज कासास के अमेरिका में मौजूद बैंक खातों पर रोक लग जाएगी तथा अमेरिकी कंपनियों के साथ उनके व्यवसायिक कामकाज पर भी पाबंदी होगी। यूएई-बहरीन को बनाया प्रमुख रणनीतिक सहयोगी अमेरिका ने यूएई और बहरीन को प्रमुख रणनीतिक साझेदार करार दिया है।

व्हाइट हाउस ने यह घोषणा ट्रंप और बाइडन के बीच सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया के दौरान दी है। प्रेस सचिव कायली मैकनेनी ने कहा, आज हम यूएई एवं किंगडम आफ बहरीन को अमेरिका के प्रमुख रणनीतिक सहयोगी के रूप में घोषित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह दर्जा विशिष्ट है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button