बिज़नेसराष्ट्रीय

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के नतीजे, रेपो रेट स्थिर

ईएमआई या लोन की ब्याज दरों पर नई राहत नहीं मिलेगी आपको

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैठक के नतीजों की जानकारी देते हुए कहा कि रेपो रेट को 4 फीसदी पर बरकरार रखने का फैसला लिया गया है. वहीं, रिवर्स रेपो रेट भी 3.35 फीसदी पर स्थिर है.

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि ग्लोबल इकोनॉमी अब भी कमजोर है. हालांकि, विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़त का सिलसिला जारी है. – आरबीआई गवर्नर ने कहा कि खुदरा महंगाई दर नियंत्रण में है. आरबीआई गवर्नर के मुताबिक दूसरी छमाही में महंगाई दर कम हो सकती है.

आरबीआई गवर्नर के मुताबिक कोरोना की मार के बाद देश की इकोनॉमी अब ट्रैक पर लौट रही है. गवर्नर ने कहा कि अच्छी पैदावार से ग्रामीण इकोनॉमी में रिकवरी है.

आरबीआई गवर्नर ने एक बार फिर कहा है कि वित्त वर्ष 2020—21 में जीडीपी ग्रोथ रेट निगेटिव रहेगी.

इस बीच, शेयर बाजार में बढ़त बरकरार है. 12 बजे के बाद सेंसेक्स 200 अंक मजबूत और निफ्टी 11,150 अंक के आगे कारोबार करता दिखा. कोरोना काल में रिजर्व बैंक के मौद्रिक नीति समीक्षा की तीसरी बैठक थी.

बता दें कि कोरोना संकट की वजह से दो बार समय से पहले बैठक हो चुकी है. पहली बैठक मार्च में और उसके बाद मई, 2020 में दूसरी बैठक हुई. इन दोनों बैठकों में रिजर्व बैंक की रेपो रेट में कुल मिला कर 1.15 फीसदी की कटौती की. बीते साल यानी फरवरी, 2019 के बाद रेपो रेट में 2.50 फीसदी की कटौती हो चुकी है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button