राज्य

बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों के नतीजे जारी, एनडीए ने हासिल की 125 सीट

बिहार में एक बार नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनने जा रही

पटना: बिहार में एक बार नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनने जा रही है. आंकड़ों पर नजर डालें तो एनडीए के खाते में 125 सीटें आयी हैं जबकि शुरुआती लड़ाई में आगे चल रहा महागठबंधन 111 पर ही रुक गया.

एनडीए में सीटों की बात करें तो बीजेपी खाते में 74 सीटें आयी हैं. वहीं एनडीए के अन्य सयोगियों की बात करें तो जेडूयी को 43 वीआईपी को 4 और हम को 4 मिली हैं. वहीं महागठबंधन मे आरजेडी को 76, कांग्रेस को 19 और लेफ्ट को 16 सीटें मिली हैं.

प्रतिशत की बात करें तो सबसे ज्यादा वोट शेयर 23.1 प्रतिशत आरजेडी के खाते में गया है. वहीं कांग्रेस के हिस्से 9.48% और लेफ्ट के हिस्से 1.48% वोट गया है. एनडीए की बात करें तो बीजेपी ने 19.46%, जेडीयू ने 15.38% वोट पर कब्जा जमाया है.

एनडीए-125 बीजेपी-74 जेडीयू-43 विकासशील इंसान पार्टी-04 हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा-04 महागठबंधन-110 आरजेडी-75 कांग्रेस-19 भाकपा-माले-12 सीपीएम-02 सीपीआई-02 वहीं ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने 5, बहुजन समाज पार्टी ने एक, लोक जनशक्ति पार्टी ने एक सीट पर जीत हासिल की जबकि निर्दलीय के खाते में एक सीट गया है.

बिहार में आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी, बीजेपी दूसरे नंबर पर विधानसभा चुनाव 2015 में आरजेडी-कांग्रेस-जेडीयू महागठबंधन ने बीजेपी नीत एनडीए गठबंधन को हराया था. लालू प्रसाद यादव की पार्टी आरजेडी को सबसे ज्यादा 80 सीटों पर जीत मिली थी.

नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को 71 सीटें हासिल हुई थीं. इसके अलावा बीजेपी को 53, कांग्रेस को 27, एलजेपी को 2, आरएलएसपी को 2, हम को 1 और अन्य के हिस्से में 7 सीटें गई थीं. विधानसभा चुनाव 2020 में जेडीयू को 28, आरजेडी को 5, कांग्रेस को 8, एलजेपी को 1 सीटों का नुकसान हुआ है. वहीं बीजेपी को पिछले चुनाव की तुलना में 21 सीटों का फायदा हुआ है.

एनडीए का मत प्रतिशत घटा बिहार चुनाव में अपने प्रदर्शन के बल पर बीजेपी करीब दो दशक के बाद एनडीए में जेडीयू को पीछे छोड़ वरिष्ठ सहयोगी बनी है. हालांकि 2019 लोकसभा चुनाव के मुकाबले एनडीए का मत प्रतिशत घटा है. लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (लोजपा समेत) को 40 में से 39 सीटें और 53 फीसदी से अधिक मत मिले थे.

बिहार चुनावों में लोजपा अकेले उतरी तथा उसे छह फीसदी से भी कम मत मिले. हालांकि अब हम और वीआईपी एनडीए का हिस्सा बन गए. एनडीए (बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी) का सम्मिलित मत प्रतिशत 40 फीसद से कम है.

वहीं आरजेडी नीत महागठबंधन को करीब 37 फीसदी मत मिले. लोकसभा चुनाव में जेडीयू का मत प्रतिशत 21.81 था जबकि विधानसभा चुनाव में महज 15 फीसदी रहा. बीजेपी का मत प्रतिशत आम चुनाव में 23.58 फीसदी था और विधानसभा चुनाव में करीब 20 फीसदी रहा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button