जॉब्स/एजुकेशनज्ञान की दुनियाबड़ी खबर

फ्रेशर्स को रिज्यूमे बनाते समय रखना चाहिए इन 7 बातों का ध्यान

-Resume Tips For Freshers

अगर आप फ्रेशर है और अभी हाल ही में कॉलेज पासआउट हुए है तो जॉब मार्केट में जाने से पहले आपके पास एक अच्छा रिज्यूमे होना जरूरी है। किसी भी जॉब को हासिल करने की सबसे पहली सीढ़ी रिज्यूमे ही होता है। हालाँकि रिज्यूमे तो सभी बनाते है लेकिन सभी को मनमुताबिक जॉब नही मिल पाता है। दरअसल फ्रेशर्स को जॉब नही मिलने के सबसे बड़े कारणों में से एक है उनका रिज्यूमे ढंग का नही बना होना।

जब एक ही प्रोफाइल के लिए एक जैसे क्वालिफाईड में से कुछ लोगों को ही चुना जाता है तो उनके रिज्यूमे में ऐसा क्या अलग होता है जिससे उनका रिज्यूमे शॉर्टलिस्ट कर लिया जाता है। एक सर्वे के मुताबिक अधिकतर रिज्यूमे को इसलिए कचरे के डिब्बे में डाल दिया जाता है क्योंकि उनमें वो चीजें नही होती है जिसकी कंपनी को तलाश रहती है।

जब फ्रेशर्स जब पहली बार रिज्यूमे बना रहे होते है तो वे कुछ गलतियां करते है, अगर आप इन गलतियों का सुधार करके फिर से रिज्यूमे बनाएंगे तो निश्चित ही आपको इंटरव्यू के लिए सेलेक्ट किया जाएगा। यहां पर हम आपको रिज्यूमे से संबंधित कुछ जरूरी बातें बताने जा रहे है, अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो आपका रिज्यूमे एक पर्फेक्ट रिज्यूमे बन जाएगा। तो आइये जानते है फ्रेशर्स को रिज्यूमे बनाते समय किन बातों का ध्यान रखना है।

1.पर्सनल डिटेल-

रिज्यूमे बनाते समय सबसे पहले आपको अपनी पर्शनल डिटेल्स के बारे में बताना होता। कुछ लोग पर्सनल डिटेल के बारे में बताते हुए कई फालतु की चीजें भी बता देते है जिसकी जरूरत नही होती है। एक फ्रेशर को अपने रिज्यूमे में अपना पूरा नाम, पता, जन्मतिथि, कॉन्टेक्ट नंबर और ईमेल आईडी देना चाहिए इसके अलावा पर्शनल डिटेल्स में कोई अन्य बात नही होनी चाहिए। पर्सनल डिटेल में सिर्फ इतनी बातें ही बताएं।

2.करियर ऑब्जेक्टिव-

एक फ्रेशर्स के लिए करियर ऑब्जेक्टिव के बारे में बताना जरूरी होता है क्योंकि उसके पास एक्सपीरियंस के बारे में बताने को कुछ नही होता है। करियर ऑब्जेक्टिव के बारे में बताते हुए आप अपने करियर में क्या हासिल करना चाहते है उसकी समरी लिख सकते है। लेकिन इतना ध्यान रखें कि करियर ऑब्जेक्टिव के बारे में आप जिस प्रोफाइल के लिए आवेदन कर रहे है उससे मिलता जुलता ही लिखें।

3.क्वालिफिकेशन-

यहां पर आपको अपने एजुकेशन के बारे में लिखना है। आपने जिस इंस्टीट्यूट से ग्रेजुएशन अथवा पोस्ट ग्रेजुएशन किया है उसके बारे में डिटेल में लिखे। इसमें कोर्स का नाम, पासिंग ईयर, इंस्टीट्यूट का नाम शामिल होना चाहिए। साथ ही अगर आपको कोई अवार्ड मिला है तो उसके बारे में भी यहां पर लिख सकते है।

4.एडिशनल कोर्सेस अथवा डिप्लोमा- अगर आपने अपनी पढ़ाई के अलावा कोई एडिशनल कोर्स या डिप्लोमा कोर्स किया है तो उसके बारे में भी लिखें। इसके अलावा आपने किसी आर्ट फॉर्म की ट्रेनिंग ली है तो उसके बारे में भी यहां पर बता सकते है।

5.एक्सपीरियंस- फ्रेशर्स को अधिकतर ये कंफ्यूजन रहता है कि एक्सपीरियंस में क्या लिखा जा सकता है। लेकिन अगर आपने उस जॉब से संबंधित कोई ट्रेनिंग ली है या इंटर्नशिप की है तो उसके बारे में डिटेल में लिख सकते है। इसके अलावा कोई पार्ट टाइम जॉब किया है तो उसके बारे में भी लिख सकते है।

6.हॉबिज और स्किल्स- अपनी हॉबी और स्किल के बारे में भी जरूर लिखे। लेकिन सिर्फ उन्ही स्किल और हॉबी के बारे में लिखे जिसके बारे में वास्तव में आप जानते है। क्योंकि हो सकता है इंटरव्यू के दौरान आपसे उस हॉबी के बारे में पूछा जाए।

7.रिफरेंस- अगर आप फ्रेशर है तो किसी का रिफरेंस आपके बहुत काम आ सकता है। किसी अपने परिचित से आप उनका रिफरेंस ले सकते है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें रिफरेंस में किसी का नाम और नंबर देने से पहले उसको इस बारे में बता जरूर दें।

Summary
Review Date
Reviewed Item
फ्रेशर्स को रिज्यूमे बनाते समय रखना चाहिए इन 7 बातों का ध्यान
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt