छत्तीसगढ़

निजी प्रवास के दौरान अल्प प्रवास पर बिलासपुर पहुँचे राजस्व मंत्री अग्रवाल

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर/– अल्प प्रवास पर न्यायधानी बिलासपुर आये प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल छत्तीसगढ़ भवन पहुँचे,जहां उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि चाहे भूमाफिया हो या रेत का अवैध उत्खनन करने वाले गुंडे किसी की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी…

मालूम हो कि निजी प्रवास पर कोरबा से रायपुर जा रहे प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल कुछ समय के लिए बिलासपुर पहुंचे जहां उन्होंने छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश में चल रहे विभिन्न गतिविधियों के संबंध में सवालों के जवाब दिए…

बातचीत के दौरान वर्तमान में प्रदेश पर राजस्व पटवारी संघ के कर्मचारियों का अनिश्चितकालीन धरना चल रहा है,जिसे लेकर उन्होंने कहा कि शनिवार को पटवारी संघ के सदस्यों से चर्चा हुई है सरकार उनकी कुछ जायज मांगों को पूरा करेगी तो वहीं कुछ अन्य मांगों पर अभी विचार किया जाएगा

उन्होंने कहा कि एक-दो दिनों में यह हड़ताल समाप्त हो जाएगी और अगर एक-दो दिन में हड़ताल समाप्त नहीं होती है तो फिर सरकार आगे की कार्यवाही करेगी. वही बातचीत पर आगे उन्होंने जिले में धड़ल्ले से चल रहे अवैध प्लाटिंग के सवाल पर उन्होंने कहा कि अवैध प्लाटिंग के संबंध में प्रशासन जांच कर रही है और कई जगहों पर नगर निगम ने कार्यवाही भी की है

उन्होंने कहा कि सरकार अवैध प्लाटिंग के मामले के पक्ष में बिल्कुल भी नहीं है और सरकार भी नहीं चाहती कि अवैध प्लाटिंग हो. वर्तमान में प्रदेश में चल रहे धान खरीदी के दौरान कई किसानों को गिरदावरी को लेकर समस्याएं सामने आ रही है इस सवाल पर प्रशासन का पक्ष रखते हुए उन्होंने कहा कि कई किसान ऐसे भी थे जो पहले जिस स्थान पर खेती नहीं होती थी उस स्थान पर भी खेती करने लगे थे और वह जमीन भी रकबा में शामिल हो जाती थी जिससे अवैध रूप से धान खरीदी बिक्री में आ जाता था,शासन नहीं चाहती कि कोई भी सरकार की योजनाओं का गलत फायदा उठाएं,यही वजह है कि सरकार ने इस बार रकबा कटौती को लेकर सख्ती बढ़ा दी है और अगर किसी किसान की वास्तविक जमीन रकबा कटौती में त्रुटिवश कट गई है तो उसे सुधारने प्रशासन पूरा काम कर रही है.

प्रदेश में कांग्रेस सरकार को 2 साल पूरे हो चुके हैं लेकिन अभी भी प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी नजर नहीं आ रही है इस सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने पिछली सरकार को घसीटते हुए कहा कि पिछली सरकार ने शराबबंदी के लिए कमेटी बनाई थी जितने शराब की बिक्री में बढ़ोतरी की अनुशंसा की गई थी,इसलिए कांग्रेस सरकार द्वारा उस कमेटी को भंग कर नई कमेटी बनाई गई है,लेकिन पूर्ण शराबबंदी के लिए बनाई गई कमेटी का पिछली सरकार द्वारा कोई समर्थन नहीं मिल रहा है,

उन्होंने कहाँ की चूँकि प्रदेश आदिवासी बाहुल्य प्रदेश है इसलिए यहां एक ही दिन में शराबबंदी होना मुमकिन नहीं है,प्रदेश सरकार को अभी 2 साल ही पूरे हुए हैं आने वाले समय में इसे पूरा कर लिया जायेगा. रेत घाट में अवैध उत्खनन कर रहे ठेकेदारों के पंडो द्वारा आम जन के साथ लगातार किए जा रहे गुंडागर्दी के मामले में उन्होंने कहा की प्रदेश सरकार मारपीट के खिलाफ है,अगर किसी भी मामले में कोई गुंडागर्दी करता है तो सरकार इसे बर्दाश्त नहीं करेगी,वही बातचीत के बाद वे रायपुर के लिए रवाना हो गए….

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button