छत्तीसगढ़

राजिम माघी पुन्नी मेला पर समीक्षा बैठक

दीपक वर्मा

राजिम(गरियाबंद)।

छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहे जाने वाले राजिम के महानदी में 14 वर्षो से राजिम कुम्भ का आयोजन किया जा रहा था और सरकार में बदलाव के साथ ही राजिम कुंभ का नाम बदलकर राजिम माघी पुन्नी मेला रखा गया है जिसका आयोजन 19 फरवरी से 4 मार्च शिवरात्रि तक पंद्रह दिनों तक होगा जिसकी आज धर्मस्व व पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू की अगुवाई में समीक्षा बैठक हुआ।

जिसमें लोगों से राय लिए व मेले के दौरान होने वाली परेशानियों पर जनता से राय जाने व मेले के दौरान होने वाले दिग्गतो का समाधान के लिये अधिकारी को इशारा किया साथ ही इस मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रमो में स्थानीय कलाकारों को प्राथमिकता देने की बात कही।

और मेले के दौरान महानदी पर संत समागम पर कहा कि साथ सन्त आएंगे पर उसके रुकने का एक या दो दिन हो सकता है अब गौर करने वाली बात है कि पूर्व में संत समागम पर देश के महामंडलेश्वर का आगमन होता था उस तरह से नही आने की ओर इशारा किया।

इस कार्यक्रम में वन मंत्री मोहम्मद अकबर,पी एच ई मंत्री रुद्र गुरु व राजिम विधायक अमितेष शुक्ल,अभनपुर विधायक धनेन्द्र साहू,रायपुर संभाग कमिश्नर चुनेंद्र जी साथ साथ रायपुर,धमतरी व गरियाबंद जिले के आला अधिकारी मौजूद रहे।

Tags
Back to top button