चावल के दाने जितना है ये Computer, करेगा कमाल

मात्र 0.3 मिलीमीटर का यह कंप्यूटर लगाता है कैंसर का पता

नई दिल्ली: अब तक आपके पास जिस भी कंपनी का कंप्यूटर है उसे देख कर आपको लगता होगा की यह वैज्ञानिकों द्वारा बनाया गया सबसे आधुनिक तकनीक है।

इस तकनीक को और आगे बढ़ाते हुए वैज्ञानिकों ने दुनिया का सबसे छोटा कंप्यूटर विकसित किया है। बता दें मात्र 0.3 मिलीमीटर का यह कंप्यूटर कैंसर का पता लगानेे और उसके इलाज से संबंधित चीजों में लोगों की मदद कर सकता है।

अगर आपका कंप्यूटर डिस्चार्ज हो जाए तो यह प्रोग्रामिंग और डेटा को सुरक्षित रख सकता है लेेकिन इस छोेटेे से कंप्यूटर के साथ ऐसा नहीं है। यह डिस्चार्ज होने पर प्रोग्रामिंग और डेटा खो देते है।

इस छोटे से कंप्यूटर को लेकर अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डेविड ब्लाऊ ने कहा “हम इस कंप्यूटर को लेकर यह स्पष्ट नहीं कह सकते हैं कि इस डिवाइस को कंप्यूटर कहा जाना चाहिए या नहीं ”
इस कंप्यूटर को कई तरह के काम करने के लिए बनाया गया है और इसका उपयोग कई चीजों के लिए किया जा सकता है।

इसे बनाने वाली टीम ने इसका इस्तेमाल तापमान मापने जैसे कार्यो के लिए भी किया है। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि सामान्य उत्तक से ट्यूमर ज्यादा गर्म होते हैं।

इस बात को साबित करने के लिए पर्याप्त आंकड़े उपलब्ध नहीं थे। वहीं तापमान से कैंसर के इलाज का पता लगाने में भी मदद मिल सकती है। इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि इस छोटे कंप्यूटर से कैंसर जैसी बीमारियों का पता लगाने में मदद मिल सकती है।

Back to top button