राइस मिल के काले राखड़ और डस्ट से वार्डवासी परेशान

नगर लोकसुराज अभियान में शिकायत के बावजूद नही हटा राइस मिल

रवि सेन

बागबाहरा।नगर के बीचों बीच संचालित शारदा राइसमिल के डस्ट एवम काले राखड़ से वार्डवासी सहित पूरे नगर वासी भी परेशान है। राइसमिल से निकलने वाले राखड़ से वार्डवासियों को आंख, श्वास एवम त्वचा संबंधित बीमारियां हो रही है। वार्डवासियों एवमं जनप्रतिनिधियों द्वारा लगातार शासन प्रशासन से शिकायत करने के बाद भी अधिकारियों के कान पर जु नही रेंग रही है। परेशासन के सुस्त रवैये की वजह से राइसमिलर्स के हौसले बुलंद हो गए है।

राइस मिल से परेशान वार्डवासी ये कहते है

शेखर चन्द्राकर – राइसमिलर्स द्वारा उसना पानी को बाहर फेका जा रहा टैंकर से इस पानी को ले जाने की वजह से 4 – 5 घंटे तक उसना पानी की बदबू गली एवम घरों में फैले रहती है । उसना पानी के बदबू के चलते घर मे खाना पीना दुर्भर हो गया है ।

सुनील सिंग – राइसमिल से उड़ने वाले राखड़ से घरों में रखे खाने पीने की सामग्री सहित बाहर में सूखे कपड़े भी खराब हो जाते है । राखड़ की वजह से शरीर खुजली भी होती है जितने बार इस रास्ते से गुजरना होता है उतने बार नहाना पड़ता है ।

रूपेश तिवारी (शिक्षक) – राइसमिल से निकलने वाले प्रदूषित धुंए , राखड़ एवम उसना पानी की वजह से पूरे वार्ड वासी परेशान है तरह तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है । जब तक इस राइसमिल को शहर के बाहर नही किया जाएगा तब तक इस समस्या से वार्डवासी निजात नही पा सकते है ।

लोकेश्वर चन्द्राकर (जिला महासचिव शिवसेना) – वार्डवासियों की समस्या को देखते हुए राइसमिल को नगर से बाहर करवाने के लिए मेरे द्वारा कई बार जिला कलेक्टर , नगर पालिका एवम नगर सुराज अभियान में लिखित शिकायत किया गया है लेकिन अब तक शासन प्रशासन की नींद नही खुल पाई है जिसके चलते राइसमिलर्स के हौसले और ज्यादा बुलंद हो गए है ।

1
Back to top button