क्राइमबड़ी खबरराष्ट्रीय

6 बैकों को 400 करोड़ रुपये का चूना लगाकर विदेश भागे चावल व्यापारी

SBI ने CBI से की शिकायत

केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) द्वारा पकड़े गए रामदेव इंटरनेशनल के तीन प्रमोटर्स देश छोड़कर विदेश भाग गए हैं. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने इसकी शिकायत CBI से की है. रामदेव इंटरनेशनल के इन प्रमोटर्स को CBI ने 6 बैंकों के कंसोर्शियम को 411 करोड़ रुपये का चूना लगाने के आरोप में पकड़ा था.

पश्चिम एशिया और यूरोपियन देशों में बासमती चावल निर्यात करने वाली इस कंपनी के डायरेक्टर्स नरेश कुमार, सुरेश कुमार और संगीता हैं. CBI ने हाल ही में इनको SBI की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया था.

SBI ने अपनी शिकायत में कहा है कि हरियाणा स्थित उक्त कंपनी के पास करनाल जिले में 3 राइस मिल और 8 सॉर्टिंग और ग्रेडिंग इकाइयां हैं.

अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

SBI के अलावा बैंकों के इस कंसोर्शियम में केनरा बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आडीबीआई बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और कॉर्पोरेशन बैंक शामिल हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, रामदेव इंटरनेशन ने कुल 414 करोड़ रुपये का कर्ज बैंकों से लिया है. इसमें 173.11 करोड़ SBI से, केनेरा बैंक से 76.09 करोड़, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से 64.31 करोड़ रुपये, 51.31 करोड़ सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया से, 36.91 करोड़ कारपोरेशन बैंक से और 12.27 करोड़ रुपये IDBI बैंक से कर्ज लिया गया है.

CBI ने कंपनी और उसके निदेशक, नरेश कुमार, सुरेश कुमार, संगीत और कुछ अज्ञात सरकारी अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. इसमें धोखाधड़ी, क्रिमिनल ब्रीच ऑफ ट्रस्ट और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं.

सभी देश छोड़कर फरार हो गए

SBI ने बताया है कि साल 2016 में किए गए ऑडिट में पता चला था कि आरोपी ने खातों में गड़बड़ी की, बैंलेंस शीट में धोखाधड़ी और गैर कानूनी तरीके से प्लांट को हटा और मशीनरी को हटा दिया ताकि गैरकानूनी तरीके से बैंक फंड में लागत को घटाया जा सके.

इसके बाद जब इस मामले में बैंक की ओर से जांच की गई तो कंपनी के सदस्य गायब हो गए. बाद में पता चला कि सभी देश छोड़कर फरार हो गए हैं.

Tags
Back to top button