झारखंड की रिजवाना का शव पहुंचा कांकेर,अस्पताल में हड़कप

शव लाने के लिए कांकेर रवाना किया गया एंम्बुलेंस

रायपुर। पंडरी स्थित एक निजी हास्पिटल में शनि-रविवार की रात झारखंड निवासी रिजवाना परवीन और कांकेर, तुएगहन निवासी लता दर्रो की मौत हुई। गार्ड ने हिंदू परिवार को शव सौंपते वक्त चेहरा नहीं दिखाया, न ही परिजनों ने देखने की मांग की।

0- 160 किमी दूर कांकेर तुएगहन पहुंचा रिजवाना का शव

इस एक चूक से रिजवाना का शव रायपुर से 160 किमी दूर कांकेर तुएगहन पहुंच गया। दूसरी ओर रविवार की सुबह 8 बजे मुस्लिम परिवार रिजवाना का शव लेने के लिए अस्पताल पहुंचा। गार्ड ने शव का चेहरा दिखाया तो परिजन सकते में आ गए। बोले- ये शव रिजवाना का नहीं है,जिसके बाद अस्पताल में हड़कप मंच गया।

बात प्रबंधन तक पहुंची, तब तक कांकेर से अस्पताल फोन आ गया कि जो शव उन्हें दिया गया है, वह लता का नहीं है। इस घटना से हड़बड़ाए अस्पताल प्रबंधन ने जैसे-तैसे दोनों परिवारों को समझाकर शांत किया।

एंबुलेंस कांकेर रवाना की गई, ताकि वहां से रिजवाना का शव लाया जाए और लता का शव उनके परिजनों को सौंपा जाए। करीब चार घंटे में मामला सुलझा तब अस्पताल प्रबंधन ने राहत की सांस ली।

Tags
Back to top button