रिजवी ने अल्पसंख्यकों की स्थिति को लेकर जताई चिंता

मॉब लिंचिग देश को शर्मसार करने वाली अमानवीय घटना है

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया विभाग के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व उपमहापौर इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि भाजपा शासित राज्यों में गौ तस्करी के शक में मॉब लिंचिग के जरिए बेगुनाह अल्पसंख्यक एवं दलित पशुपालको तथा कारोबारियों को पीट-पीट कर मौत के घाट उतारा जा रहा है।

जो कि देश को शर्मसार करने वाली अमानवीय घटना है, तथा विदेशों में भी देश की छवि इससे खराब हो रही है।

यह कृत्य जघन्य अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसी अमानवीय घटनाएं हिन्दू और मुसलमानों के बीच जहर घोलकर वोट के खातिर अपना स्वार्थ सिद्ध करने देश में साम्प्रदायिक सोच वाले दलो एवं सगठनों का हिडन एजेंडा है।

रिजवी ने कहा है कि मॉब लिंचिग, लव जिहाद, ऑनर किलिग के साथ-साथ टोनही के शक में मारने पीटने की घटनाओं से कारित हत्याओं को केन्द्र सरकार को गंभीरता से लेना चाहिए।

सरकार कड़े कानून बनाकर फास्ट कोर्ट के माध्यम से शीघ्र निराकरण करने वाली अदालतो का गठन कर समय सीमा के अंदर अपराधियों को कड़ी सजा के प्रावधान वाला कानून अविलम्ब बनाया जाना चाहिए। क्योंकि ऐसी शर्मनाक वारदातों से न केवल देश लेकिन सम्पूर्ण विश्व में भारत की छवि खराब हो रही है।

आम चर्चा है कि सन् 1984 के सिख विरोधी दंगे एवं 2002 के गुजरात दंगे दोनों ही बडे़ पैमाने पर प्रायोजित मॉब लिंचिग की श्रेणी में आते है, जो देश की एकता, अखण्डता एवं सौहार्द्र को नष्ट करने के लिए ही भड़काए एवं प्रायोजित किये जाते हैं।

इसलिए केन्द्र सरकार इन अमानवीय अपराधिक वारदातों को रोकने के लिए तत्काल कड़े कदम उठाते हुए शीघ्र कानून बनाए इससे ऐसी घिनौनी घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सकेगा।

Back to top button