राष्ट्रीय

रघुवंश का बयान है,RJD में संगठन का चुनाव केवल दिखावा

आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के एक बयान ने पार्टी की एकजुटता और आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार के प्रति समर्पण के भाव की हवा निकाल दी है.रघुवंश प्रसाद सिंह आरजेडी के वरिष्ठ नेता हैं.

ऐसे में उनका यह बयान पार्टी के लिए काफी मायने रखता है. बुधवार को आरजेडी ने अध्यक्ष लालू प्रसाद  यादव  की अनुपस्थिति में पार्टी के विधायकों सांसदों और जिलाध्यक्षों की बैठक बुलाई.

इसके दो उद्देश्य हैं कि आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद  यादवऔर प्रतिपक्ष के नेता पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया है. इस विकट परिस्थिति में भी पार्टी एकजुट है.

दूसरा लालू प्रसाद यादव के बाद अध्यक्ष कौन, इसको लेकर पार्टी में मंथन शुरू हो गया है. क्योंकि लालू प्रसाद यादव पर चारा घोटाले के साथ-साथ अब रेलवे टेंडर के मामले में भी सीबीआई पूछताछ कर रही है.

संगठात्मक चुनाव 20 नवंबर को

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के नेतृत्व में यह बैठक बुलाई गई. जिसमें उनके बेटे तेजप्रताप यादव भी मौजूद रहे. इस आपात बैठक में यह फैसला लिया गया कि पार्टी का संगठात्मक चुनाव 20 नवंबर को  होंगा. हांलाकि 2016 में यह चुनाव हो चुके थे और इसका कार्यकाल 2019 तक था. लेकिन आपत परिस्थियों में पार्टी ने फिर से चुनाव करने का फैसला किया है.

जिसके तहत हो सकता है कि पार्टी में नए कार्यकारी अध्यक्ष का ऐलान हो.से पार्टी के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह का कहना है कि संगठात्मक चुनाव कराने के पीछे 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी है. उन्होंने कहा कि हांलाकि संगठन के चुनाव जनवरी 2019 में होने चाहिए लेकिन बेहतर तैयारी हो इसलिए पार्टी ने पहले से रणनीति बनानी शुरू कर दी है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
RJD
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.