नाबालिग से दुष्कर्म मामले में राजद के निलंबित विधायक को आजीवन कारावास

अन्य तीन को दस-दस वर्षो के सश्रम कारावास की सजा

पटना।

अदालत ने नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में आज राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के निलंबित विधायक राजवल्लभ प्रसाद यादव को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

साथ ही बिहार की राजधानी पटना स्थित सांसदों एवं विधायकों के मुकदमे की सुनवाई के लिए गठित विशेष अदालत ने अन्य तीन को दस-दस वर्षो के सश्रम कारावास की सजा सुनाई।

विशेष न्यायाधीश परशुराम सिंह यादव ने यहां मामले में सुनवाई के बाद विधायक राजवल्लभ प्रसाद यादव को भारतीय दंड विधान (भादवि) और लैंगिक अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (पॉक्सो ऐक्ट) के तहत यह सजा सुनाई है।

दूसरी ओर, मामले के अन्य दोषी सुलेखा देवी और राधा देवी को भादवि, पॉक्सो ऐक्ट और अनैतिक देह व्यापार निषेध अधिनियम के तहत यह सजा सुनाई है। अदालत ने राजवल्लभ, राधा और सुलेखा को साठ-साठ हजार रुपये जुर्माना भी किया।

वहीं, छोटी देवी उर्फ अमृता, टूसी देवी और संदीप सुमन उर्फ पुष्पंजय को भादवि, अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत दस-दस साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई गयी।

अदालत ने इनपर चालीस -चालीस हजार रुपये का जुर्माना भी किया। पहली पाली में सजा के बिंदु पर सुनवाई के बाद अदालत ने दूसरी पाली तक के लिए अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

इससे पूर्व अदालत ने 15 दिसंबर 2018 को विधायक समेत मामले के सभी छह आरोपियों को दोषी करार देते हुए सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए आज की तिथि निर्धारित की थी।

new jindal advt tree advt
Back to top button