छत्तीसगढ़

बहरूपिया रूप धारण कर शांति पाठ कराने आये लुटेरे, पहले तो कराई पूजा फिर जजमान को नदी में धकेल लूटकर भागे लाखों रुपये

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

(अम्बिकापुर)//- घर में संतों के भेष में शांतिपाठ कराने आए साधुओं ने नदी में विसर्जन के दौरान पूजा में रखे गए 1.71 लाख नकद और गणेश की चांदी की मूर्ति और सोने की चैन लेकर भाग गए,इस दौरान लूट की वारदात को अंजाम देने उन्होंने शांति पाठ कराने वाले उप सरपंच को नदी में धकेल दिया,शिकायत मिलते ही पुलिस अलर्ट हुई और एक आरोपी को लूट के रुपयों और इसमें प्रयुक्त वाहन को जब्त कर लिया है,वहीं दो आरोपी फरार हैं,

मिली जानकारी के मुताबिक शंकरगढ़ निवासी रूपेश अग्रवाल ने घर में शांति पाठ कराने 3 बाबाओं को बुलाया था,इनमें दिल्ली निवासी बाबा संजय शर्मा उर्फ सच्चिदानंद,रीवा के जाबा थाना इलाके के आशुतोष सिंह व संजय मिश्रा थे,इसी दौरान उन्होंने थाली में 1.71 लाख रुपए और चांदी की गणेश की मूर्ति रखवाई,इसके बाद रुपए के शुद्धिकरण और अन्य सामान को विसर्जन के लिए ले गए,जैसे ही नदी किनारे बाबाओं ने अपनी गाड़ी खड़ी की और फिर नदी के पास गए उन्होंने मौका पाकर अग्रवाल से रुपए और गणेश प्रतिमा को लूटकर उन्हें नदी में धकेल कर गाड़ी से भाग गए…

गिरफ्तार आरोपी बोला- मैं तो सिर्फ चेला हूं

मामले की शिकायत के बाद पुलिस टीम ने एक आरोपी आशुतोष सिंह को सन्ना जशपुर में अम्बाकोना जंगल में गिरफ्तार किया और बाकी आरोपी फरार हो गए,गिरफ्तार आरोपी से नकद 10 हजार और मूर्ति बरामद कर ली गई है,बताया गया है कि गिरफ्तार आरोपी संजय शर्मा का चेला खुद को बताया है..

वाहन की डिटेल भी खंगाल रही पुलिस

पीड़ित ने बताया मुख्य बाबा के पास 6 से अधिक मोबाइल फोन था,उसमें से 2 का नंबर उसके पास था, दोनों नंबर बंद बता रहा है। पुलिस उनके मोबाइल लोकेशन और काॅल डिटेल निकलवा कर उन्हें पकड़ने की तैयारी है। वाहन की भी डिटेल लेकर भी उन तक पहुंच सकते हैं।

जब्त गाड़ी से 2 और नंबर प्लेट बरामद

पुलिस ने वाहन की तलाशी ली तो 2 और नंबर प्लेट मिले। पुलिस अब गाड़ी के चेचिस नंबर जांच रही है। शक है कि वाहन भी चोरी की हो सकती है। गिरफ्तार आरोपी ने बताया कि पहले भी कई वारदात को अंजाम दिया है, उसने इतना बताया कि वह उनका चेला है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button