म्यांमार में रोहिंग्या शरणार्थी संकट का मुआयना करेगी UN टीम

मौंगदाव: म्यांमार के रखाइन प्रांत में रोहिंग्या शरणार्थी संकट का मुआयना करने के लिए सोमवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) का एक प्रतिनिधिमंडल म्यांमार पहुंचेगा। यह जानकारी एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने दी। रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ पिछले साल अगस्त में शुरू हुए सैन्य अभियान के बाद से यह रखाइन प्रांत का संयुक्त राष्ट्र का उच्चस्थ दौरा होगा।

बौद्ध बहुल म्यांमार आरोपों पर सवाल उठाता है, लेकिन वह संयुक्त राष्ट्र के तथ्यान्वेषियों और अधिकारदूतों को देश में प्रवेश से रोककर संघर्षक्षेत्र तक पहुंच को बुरी तरह अवरुद्ध करता रहा है।फरवरी में संयुक्त राष्ट्र के पहले प्रस्तावित दौरे के बाद म्यांमार सरकार ने कहा कि यह ‘उचित समय नहीं है, लेकिन इस महीने के शुरू में 15 परिषद दूतों के दौरे को मंजूरी दे दी।

सैन्य अभियान के चलते लगभग 7 लाख रोहिंग्या मुसलमान म्यांमार छोड़कर बांग्लादेश भाग गए. म्यांमार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ब्यौरा दिए बिना कहा कि वे 30 अप्रैल को यहां की राजधानी आएंगे और अगले दिन रखाइन जाएंगे। रोहिंग्या परिवार की वापसी के म्यांमार के दावे को बांग्लादेश ने खारिज किया।

इससे पहले बांग्लादेश ने पांच रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी के म्यांमार के दावे को बीते 16 अप्रैल को खारिज कर दिया।सेना के भीषण अभियान के बाद म्यांमार के करीब 700,000 रोहिंग्या लोगों को देश छोड़कर बाहर जाना पड़ा था।

Back to top button