रोहित शर्मा के पास पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग से बेहतर तकनीक: शोएब अख्तर

शोएब अख्तर ने रोहित की तुलना वीरेंद्र सहवाग से की

नई दिल्ली:वैसे तो भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच हुए टेस्ट मैच में भारत के लिए पहली बार ओपनिंग कर रहे भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की क्रिकेट जगत में चारो तरफ तारीफ हो रही है. वहीं पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भी रोहित की तुलना पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग से कर डाली.

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा है कि भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के पास भारत के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग से बेहतर तकनीक है. हाल ही में दो दिन पहले ही भारत और दक्षिण अफ्रीका ज्के बीच मैच हुआ है.

रोहित के पास बेहतर तकनीक

रोहित ने बतौर सलामी बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने पहले टेस्ट मैच में 176 और 127 रनों की पारियां खेलीं थीं. इसके अलावा उन्होंने एक मैच में सर्वाधिक छक्के लगाने के रिकॉर्ड को भी तोड़ा था. अख्तर ने अपने यूट्यब चैनल पर कहा है, “रोहित शर्मा के पास वीरेंद्र सहवाग से अच्छी तकनीक है. सहवाग हमेशा आक्रामक नजर आते थे, लेकिन रोहित अलग हैं.”

क्या अंतर बताया रोहित और सहवाग में अख्तर ने

शोएब अपने दावे की दलील भी दी और बताया कि रोहित और सहवाग में क्या अंतर है. उन्होंने कहा, “उसके पास अच्छी टाइमिंग है और अलग-अलग तरह के शॉट्स हैं. बस उनके पास टेस्ट क्रिकेट का अच्छा बैट्समैन बनने का पैशन नहीं था, लेकिन अब उसका माइंडसेट बदल गया है.”

भारत का इंजमाम उल हक बताया

पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज ने कहा कि जब उन्होंने पहली बार रोहित को देखा तो उन्हें लगा कि ये भारत के इंजमाम उल हक बनेंगे. अख्तर ने कहा, “वास्तव में, मैंने सोचा कि ये भारत के इंजमाम उल हक हैं.

पहले उनके अंदर टेस्ट के प्रति कम रूची थी क्योंकि विभिन्न प्रारूपों में स्पेशलिस्ट बल्लेबाज बनना चाहते थे. अब आप देख सकते हैं कि जब रोहित ने इस चीज को अपने दिमाग से निकाल दिया है तो फिर उन्होंने शतक लगाया है.”

पहले से हो रही थी सहवाग से तुलना

रोहित सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने हैं. इस मैच से पहले ही रोहित की तुलना सहवाग से हो रही थी. टीम के कोच बता रहे थे वे टेस्ट टीम इंडिया में वही भूमिका निभा सकते हैं जो कभी वीरेंद्र सहवाग ने निभाया करते थे.

सहवाग भी पहले वनडे में तेजी से रन बनाने वाले सफल बल्लेबाज रहे थे उन्हें भी काफी समय बाद टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज की भूमिका दी गई थी.

Back to top button