कहीं संपत्ति के लिए तो नहीं हुई रोहित शेखर की हत्या

पुलिस ने बदला जांच का एंगल

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को शनिवार तक रोहित शेखर की हत्या का मकसद अवैध संबंध लग रहा था। लेकिन उस एंगल पर सुबूत नहीं मिले है। इसके बाद अब पुलिस संपत्ति के एंगल पर जांच कर रही है। पिछले तीन दिनों से रोहित के घर में डेरा डाल कर क्राइम ब्रांच जांच कर रही है। सभी को अंदर ही हिरासत में रखकर पूछताछ की जा रही है। जरूरत पड़ने पर किसी को बाहर ले जाया जाता है।

उज्ज्वला के दूसरे पति के बेटे सिद्धार्थ के बारे में जांच में पता चला है कि उसमें संतान पैदा करने की क्षमता नहीं है इसलिए उन्होंने शादी नहीं की। पुलिस की जांच अपूर्वा के इर्द-गिर्द घूम रही है। पुलिस को लग रहा है कि अपूर्वा यह सोच रही हो कि सिद्धार्थ तो बेकार ही है। रोहित की हत्या कर देने पर एनडी तिवारी की सारी संपत्ति का मालिक वह बन जाएगी। इसलिए अब पुलिस अब संपत्ति के एंगल पर जांच कर रही है।

पुलिस पूछताछ में रोहित शेखर की मां उज्ज्वला ने अपूर्वा के बारे में अहम जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि रोहित शेखर मेट्रोमोनियल साइट के जरिये 2017 में पहली बार अपूर्वा से लखनऊ मिले थे। उज्ज्वला ने कहा कि मेरे परिवार के रिश्तेदार राजीव और उनकी पत्नी के संदर्भ में जो शक किया जा रहा है वह गलत है। रोहित की मां ने कहा कि अपूर्वा को राजीव और एक महिला से परेशानी थी। अपूर्वा का परिवार मनी माइडेड है। मैं वक्त आने पर कुछ खुलासा करूंगी।

उज्ज्वला ने आरोप लगाया कि मेरे दोनो बेटे रोहित और सिद्धार्थ की प्रॉपर्टी अपूर्वा और उसका परिवार हड़पना चाहते थे। क्योंकि ये घर सुप्रीम कोर्ट से पास है जहां अपूर्वा प्रक्टिस करती है। रोहित की मां ने कहा कि अपूर्वा का परिवार पैसे का लालची है। जल्द आपको सब पता चल जाएगा। विवाह के पहले अपूर्वा का बॉय फ्रेंड था। अपूर्वा के पिता गलत बोल रहे है।

रोहित शेखर की मां उज्ज्वला ने बताया कि राजीव के बेटे कार्तिक को सिद्धार्थ अपनी प्रॉपर्टी का हिस्सा देना चाहता था। इस बात से अपूर्वा नाखुश थी। राजीव और उसकी पत्नी ने 40 साल से हमारी सेवा कर रही है। राजीव ने एनडी तिवारी की भी सेवा की है। उज्ज्वला ने कहा कि राजीव मेरे रिशेतदार है और एनडी तिवारी के OSD रहे है। फोन कॉल से वक्त आने पर सब पता चल जाएगा कि किसने किसको फोन किया।

शनिवार को दिन भर चली पूछताछ में क्राइम ब्रांच ने रोहित की पत्नी अपूर्वा शुक्ला और मां उज्ज्वला सहित परिवार के आठ सदस्यों से आठ घंटे तक गहन पूछताछ की। ये पूछताछ रोहित की पत्नी अपूर्वा, मां उज्ज्वला शर्मा, रोहित के बड़े भाई सिद्धार्थ शर्मा, ससुर पीके शुक्ला, घरेलू नौकर गोलू, ड्राइवर अभिषेक और एक महिला नौकरानी सहित कुल 8 लोगों से हुई। पुलिस ने इन लोगों से करीब 80 सवाल पूछे गए। इसमें खासकर पत्नी अपूर्वा पुलिस की रडार पर रहीं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ की जद में रोहित की पत्नी के अलावा भाई सिद्धार्थ और मां उज्ज्वला भी हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जांच में सबसे चौंकाने वाला तथ्य यह सामने आया है कि घटना वाले दिन सोमवार की आधी रात रोहित के फोन से एक व्यक्ति को 12 फोन किए गए। लिहाजा पुलिस इस नंबर के अलावा रोहित के फोन से किए गए अन्य 18 नंबरों की काल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) खंगाल रही है। दरअसल प्राथमिक रिपोर्ट में सोमवार की देर रात ही रोहित की हत्या की बात सामने आई है।

Back to top button