राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साथ छोड़ दिया: मायावती

मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनकी पत्नी को लेकर निजी हमले किए

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनकी पत्नी को लेकर निजी हमले किए. इसके बाद बीजेपी के तमाम नेता मायावती पर आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं.

मायावती ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साथ छोड़ दिया है. मंगलवार को मायावती ने लखनऊ में कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान नेता पूजा-पाठ करने के बहाने प्रचार कर रहे हैं. चुनाव आयोग को तत्काल इसपर रोक लगानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि मंदिरों में दर्शन के बहाने नेता रोड शो कर ले रहे हैं. इसमें काफी पैसे खर्च हो रहे हैं. चुनाव आयोग को यह देखना चाहिए. कई नेताओं ने तो आचार संहिता के तहत प्रचार पर बैन लगने के बाद मंदिरों में दर्शन के बहाने प्रचार और रोडशो करते रहे. इन पूजा-पाठ को मीडिया में काफी दिखाया जाता है. ये सरासर चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है.

बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी चुनाव हारने जा रही है. यहां तक की राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने भी इनका साथ छोड़ दिया है. पिछले चुनावों में किए गए वादे पूरे नहीं होने से जनता में मोदी सरकार के प्रति रोष है. आरएसएस भी इस बात को समझ रहा है. ऐसे में उसने पीएम मोदी से किनारा कर लिया है. इस बात से पीएम मोदी काफी नर्वस हैं.

मायावती ने कहा कि जनता को वरगलाने के लिए देश ने अबतक कई नेताओं को सेवक, मुख्यसेवक, चायवाला व चौकीदार आदि के रूप में देखा है. अब देश को संविधान की सही कल्याणकारी मंशा के हिसाब से चलाने वाला शुद्ध प्रधानमंत्री चाहिए. जनता ने ऐसे बहरुपियों से बहुत धोखा खा लिया है अब आगे धोखा खाने वाली नहीं. ऐसा साफ लगता है.

Back to top button