डॉलर के मुकाबले रूपया 70 तक गिरने की आंशका

आखिर में डिमांड बढ़ने के चलते भी रुपये पर दबाव बना है

मुंबई। हाल के दिनों में डॉलर के मुकाबले रुपए में भारी उथल-पुथल देखी गई है। लेकिन गुरूवार को रूपया अपने सारे रिकॉर्ड तोड़ के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है।

डॉलर के मुकाबले रूपये में 69.09 पर पहुंच गया जो कि आज तक की सबसे बड़ी गिरावट मानी जा रही है। रूपये में गिरावट को देखते हुए रिजर्व बैक ने कंरसी को संभालने के अपना दखल दिया और सरकारी बैकों के जरिए डॉलर को बेचा गया है।

जिसके बाद रूपये को 68.79 के स्तर पर पहुंचाया गया। इसलिए आज 9 पैसे की मजबूती की वजह से शुक्रवार की सुबह बाजार में तेजी देखी गई है।

वहीं रूपये की गिरावट में एक्सपर्ट का मानना है कि बढ़ते तेलों के दामों और अमेरीका और चीन के बीच चल रहे ट्रेडवार रुपये में गिरावट की सबसे बड़ी वजह है।

करंसी मार्केट के जानकारों का कहना है कि महीने के आखिर में डिमांड बढ़ने के चलते भी रुपये पर दबाव बना है। करंसी मार्केट को लेकर कोई भी आंकड़ा लगाने से पहले डीलर अगले सप्ताह का इंतजार कर रहे हैं कि आखिर डॉलर की मांग कितनी रहेगी।

अगर इसी तरह ग्लोबल मुद्दे ऐसे ही गर्म रहते हैं और रुपये का स्तर हाल के दिनों में 69.20 पर पहुंचता है तो मीडियम टर्म में उसके 70 के लेवल पर भी पहुंचने की आशंका है।’

Back to top button