अंतर्राष्ट्रीय

रूस: मॉल में लगी आग, मरने वालों की संख्या बढ़ी

मॉल में आग किस कारण से लगी थी, इसकी अभी तक कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं हो गया पी है |

रूस: साइबेरियाई शहर केमरोफो के शॉपिंग मॉल में लगी आग में मरने वालों की संख्या 37 से बढ़कर 53 हो गयी है | आपको बता दें कि मरने वालों में से ज्यादा संख्या बच्चों की है | मॉल में आग किस कारण से लगी थी, इसकी अभी तक कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं हो गया पी है | अगर माल में मौजूद लोगों कि माने तो मॉल में कोई भी फायर अलार्म नहीं था.

मिली जानकारी के मुताबिक, शॉपिंग मॉल में आग बच्चों के प्लेग्राउंड के पास से फैली थी. कुछ लोगों का दावा है कि एक बच्चे ने लाइटर का इस्तेमाल किया जिसके कारण आग लग गई. इसके अलावा यह बात भी सामने आ रही है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी हो. वहां मौजूद लोगों के मुताबिक मॉल में कोई भी फायर अलार्म नहीं था.

दरअसल, 2013 में खुले इस मॉल का नाम विंटर चेरी मॉल है, इसके चौथे माले पर भीषण आग लगी. हादसे में बड़ी संख्या में लोग (64) लापता बताए जा रहे हैं जिसमें 41 बच्चे शामिल हैं. आग से शॉपिंग मॉल में सिनेमाघर के दो हॉल की छत गिर गई, जिससे नुकसान और बढ़ गया. लेकिन आग पर काबू पाने की कोशिशें लगातार जारी हैं.

मॉल के अंदर लगी आग की भयावहता को देखते हुए कई लोगों ने अपनी जान बचाने के लिए चौथे मंजिले से छलांग लगाकर जान बचाई. चौथे मंजिले पर सिनेमा हॉल थे और हादसे के ज्यादातर शिकार लोग यहीं से बताए जा रहे हैं.

रूस की राजधानी मॉस्को से करीब 3600 किमी. दूर केमरोफो स्थित मॉल में आग लगने के कारणों की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है. रूसी जांच एजेंसी से अधिकारी के मुताबिक यह आग मॉल के 1,500 स्क्वायर मीटर के दायरे में फैल गई.

जांच अधिकारियों ने बताया कि आग बुझाने के लिए 62 दमकल, एक एयरब्रोन के अलावा 600 लोगों को बचाव कार्य के लिए तैनात किया गया है. मॉल में बड़ी संख्या में ज्वलनशील पदार्थ रखे हुए थे.

स्थानीय तास न्यूज एजेंसी के अनुसार इस भीषड़ अग्निकांड में इमारत के अंदर से 100 से ज्यादा लोगों और अन्य जगहों से 20 लोगों को बचाया जा चुका है.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.