MH17 विमान गिराने के मामले में घिरा रूस

संयुक्त राष्ट्रः रूस ने यूक्रेन की सीमा में एमएच 17 विमान को मार गिराने की जिम्मेदारी लेने की संयुक्त राष्ट्र की अपील को आज खारिज कर दिया। जांच में पाया गया है कि रूसी सैन्य मिसाइल का इस्तेमाल की एमएच17 को गिराया गया था। यूक्रेन पर सुरक्षा परिषद की बैठक में पुर्तगाल के विदेश मंत्री स्टेफ ब्लोक ने रूस से इन नतीजों को स्वीकार करने के लिए कहा कि विमान को रूस में बनी बीयूके मिसाइल से गिराया गया था।

संयुक्त राष्ट्र में रूस के स्थाई प्रतिनिधि वैसिली नेबेंजिया ने परिषद की बैठक में कहा , ‘‘ जब रूस की बात हो रही हो तो किसी को भी अल्टीमेटम की इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। हम जेआईटी के बेबुनियादी निष्कर्ष को मंजूर नहीं कर सकते। गौरतलब है कि जुलाई 2014 में एम्सटर्डम से कुआलालम्पुर जा रहा मलेशिया एयरलाइन का विमान जब पूर्वी यूक्रेन में रूस सर्मिथत विद्रोहियों के इलाके के ऊपर से गुजर रहा था तो मिसाइल द्वारा उसे गिरा दिया गया जिससे उसमें सवार सभी 298 लोगों की मौत हो गई थी।

अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने रूस से इस हादसे की जिम्मेदारी लेने और दोषियों को सजा देने की पुर्तगाल और ऑस्ट्रेलिया की मांग का कड़ा समर्थन किया। हेली ने कहा , कि इसके साफ तौर पर इनकार के बावजूद इसमें कोई शक नहीं है कि रूस ही यूक्रेन संघर्ष को बढ़ावा दे रहा है। यूक्रेन के विदेश मंत्री पाव्लो क्लिमकिन ने परिषद में कहा कि उन्हें इस बात से हैरानी नहीं होती कि रूस इन नतीजों को मानने से इनकार कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमें इस बात में कोई शक नहीं है कि एमएच 17 विमान को गिराना आतंकवादी कृत्य है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन अगले महीने अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत में इस बात के दस्तावेज पेश करेगा कि रूस आतंकवाद रोधी समझौतों का उल्लंघन कर रहा है।

new jindal advt tree advt
Back to top button