रूस अन्य देशों के राजनयिकों को भी निकालेगा

मास्कोः रूस ने जासूस कांड में अमरीका के 60 राजनयिकों को देश छोडऩे का आदेश दिया है और घोषणा की है कि इस मामले में रूस पर आरोप लगाने वाले तथा ब्रिटेन एवं अमरीका का साथ देने वाले अन्य देशों के राजनयिक को भी निकालेगा। रूस ने सेंट पीटर्सबर्ग स्थित अमरीका के वाणिज्य दूतावास को बंद करने के लिए कहा है।

शीत युद्ध के बाद से रूस ने पहली बार इतनी बड़ी संख्या में राजनयिकों को देश छोडऩे का आदेश दिया है।

अमरीका के राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाऊस ने कहा है रूस के इस निर्णय से अमरीका-रूस के संबंध और अधिक खराब होंगे।

व्हाइट हाऊस के जारी बयान में कहा गया है, रूस की यह कदम अप्रत्याशित नहीं है और अमरीका इससे निपट लेगा। इससे पहले अमरीका के विदेश मंत्रालय ने रूस की कार्रवाई को निदंनीय और बिना चेतावनी के की गई कार्रवाई बताते हुए कहा था कि इससे संकट और अधिक गहरा सकता है।

अमरीका के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीदर नौअर्ट ने कहा, हमारे पास जवाबी कार्रवाई करने का अधिकार है। हम अपने विकल्पों की समीक्षा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा रूस की इस कार्रवाई से पहले ब्रिटेन और अमरीका के अलावा कई अन्य देश जासूसी कांड के आरोप में रूस के राजनयिकों को देश छोडऩे को कह चुके हैं। हमें नहीं लगता यह जैसे को तैसा की नीति है।

advt
Back to top button